चुनावी सरगर्मी के बीच बाहुबली मुख्तार दिखेंगे अगले पखवारे में कानूनी लड़ाई के मोर्चे पर, कई अहम मामलों की सुनवाई

लखनऊ। लोकसभा चुनाव की सरगर्मी चरम पर है। दूसरे चरण के मतदान के लिए प्रचार समाप्त हो चुका है और गुरुवार को वोटिंग होनी है। पूर्वांचल में चुनाव अंतिम दो चरणों में होना है लेकिन अधिकांश सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है। बावजूद इसके पूर्वांचल की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले अंसारी परिवार के जनप्रतिनिधि मऊ सदर के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी समूचे परिदृश्य से गायब ही नहीं है बल्कि दूसरे मोर्चे पर संघर्ष करते दिख रहे हैं। अगले पखवारे मुख्तार को भाजपा विधायक कृष्णानंद राय समेत सात लोगों की हत्या के अलावा दूसरे कई मामलों में पेश होना है। हाईकोर्ट इलाहाबाद, एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट से लेकर पंजाब की रोपड़ अदालत में सुनवाई की तिथियां लगातार हैं।

एक तरफ जमानत पर सुनवाई तो दूसरी तरफ फाइनल बहस

मऊ के बहुचर्चित ठेकेदार मन्ना सिंह दोहरे हत्याकांड के गवाह राम सिंह मौर्या और उसके सुरक्षाकर्मी की हत्या के मामले में जमानत प्रार्थनापत्र पर मंगलवार को हाईकोर्ट में सुनवाई थी। वादी के अधिवक्ता सुदिष्ट सिंह के मुताबिक हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई के लिए 22 अप्रैल की तिथि नियत की है। इसी मामले की सुनवाई भी एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट में चल रही है जिसमें फाइनल बहस 30 अप्रैल को होनी है। इसके अलावा मोहाली के व्यवसायी से करोड़ों की रंगदारी मांगने के मामले में मुख्तार इन दिनों रोपड़ जेल (पंंजाब) में निरुद्ध हैं। रंगदारी मामले में 25 अप्रैल को पेशी होनी है।

केएन राय में लगातार तिथियां

मोहम्मदाबाद के विधायक कृष्णानंद राय की हत्या की सुनवाई दिल्ली की स्पेशल सीबीआई अदालत में चल रही है। स्पेशल जज अरुण भारद्वाज ने इस मामले में 25,29 और 30 अप्रैल के अलावा 4,6 और 7 मई की तिथि नियत की है। हर तारिख का समय भी निर्धारित कर दिया गया है। इस मामले में गठबंधन की तरफ से गाजीपुर के बसपा प्रत्याशी पूर्व सांसद अफजाल अंसारी समेत परिवार के दूसरे सदस्य भी आरोपित बनाये गये हैं।

Related posts