वादकारी हो या वकील बगैर फेसमास्क और संबंधित मामले की तारिख के बिना ‘नो इंट्री’, जिला जज ने जारी की ‘गाइड लाइन’

वाराणसी। पहली जुलाई से जनपद न्यायालय वाराणसी का संचालन पूर्ववत आरम्भ हो जायेगा। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जिला जज उमेशचंद शर्मा ने अग्रिम दिशा निर्देश जारी किया है। जिला जज ने बताया कि पहली जुलाई से बिना फेस मास्क किसी को न्यायालय परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। न्यायालय परिसर में प्रवेश मात्र उन वादकारियों और अधिवक्ताओं के लिए अनुमन्य है जिनके मामले उस दिन सूचीबद्ध हैं, शेष के लिए प्रवेश प्रतिबंधित है।

आईडी के बिना नहीं कर सकते प्रवेश

जिला जज ने जोल देकर कहा कि सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को अपनी आईडी के साथ न्यायालय परिसर में प्रवेश करने की अनुमति होगी। कोविल-19 के कारण जो अधिवक्ता अपनी आईडी के लिए आवेदन नहीं कर सके थे, वे अपनी आईडी तैयार करा लें, क्योंकि माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश के अनुसार विना (जिला न्यायाधीश द्वारा जारी) आईडी के न्यायालय परिसर में उनका प्रवेश प्रतिबंधित किया जा सकता है। सैनिटाइजेशन टनल के लिए बार एसोसिएशन का प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेज दिया गया है और डीएम (जिला प्रशासन) के जवाब के बाद इस पर आगे उचित कार्रवाई की जाएगी।

Related posts