वाराणसी। कड़ाके की ठंड के बावजूद बेनिया बाग इलाके में रविवार की रात देर तक दो संदिग्धों की मौजूदगी पर पुलिस ने टोंका तो वह भागने लगे। पीछा कर उन्हें दबोचा गया तो .32 बोर की चार पिस्टल बरामद हुई। कड़ाई से पूछताछ करने पर असलहा तस्करी करने वाले गिरोह के बारे में चौंकाने वाली जानकारियां मिली। एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने सोमवार को अपने कार्यालय में गिरफ्तार आरोपितों को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि असलहा सप्लाई करने वाले चेन सिस्टम पर काम कर रहे हैं। एक से दूसरे के पास होते ग्राहक तक पिस्टल सप्वाई हो रही है और सभी को इसमें हिस्सा मिलता है। शहर में एक दर्जन से अधिक पिस्टल की सप्लाई अब तक कबूल की है लेकिन इनका कॉल डिटेल को खंंगाला जा रहा है। इससे कुछ और चौंकाने वाली जानकारियां सामने आयेंगी।

25 से 40 हजार में बिकती है पिस्टल

एसपी सिटी के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी चुनार (मीरजापुर) के शीतलाधाम निवासी महताब हाशमी व अंशु साहनी है। वहीं का नन्दूपुर निवासी बखेड़ू इन युवकों को हथियार बेचने के लिए भेजता है। बखेड़ू ने एक आटो रखा है जिससे असलहे की सप्लाई होती है। गिरोह के कई सदस्य एक प्वाइंट से असलहा उठाकर दूसरे प्वाइंट तक पहुंचाने के एवज में दो से तीन हजार रुपए पाते हैं। पकड़े गये युवकों को जगतगंज से सप्लाई के लिए पिस्टल मिली थी औेर चौक क्षेत्र में पहुंचानी थी। मुखबिर से इसकी सूचना चौक इंस्पेक्टर एके सिंह को मिली जिसके बाद टीम के साथ दोनों को गिरफ्तार किया गया। असलहा सप्लाई में कई लोग शामिल हैं और एक सफेदपोश इनका मास्टरमाइंड भी है। बखेड़ू की गिरफ्तारी के बाद उसके चेहरे से नकाब उतरेगा। बखेड़ू की तलाश में दबिश दी जा रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment