बलिया। विपक्ष में भाजपा थी तो सपा नेताओं पर थाना चलाने का आरोप लगाती थी। कानून-व्यवस्था के मामले में किसी तरह का हस्तक्षेप न करने की चेतावनी पीएम मोदी से लेकर सीएम योगी तक देते रहते हैं। बावजूद इसके पार्टी के विधायकों पर इसका असर नहीं होते दिख रहा है। ताजा मामला बैरिया थाने का है जहां के विधायक सुरेन्द्र सिंह किसी मामले में पैरवी के लिए थाने क्या पहुंचे सीधे थाना प्रभारी की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया। तानेदार किसी दरोगा की तरह दूसरी तरफ बैठ कर उनकी बाते सुनते रहे। सोशल मीडिया में फोटो वायरल होने के बाद एसपी अनिल कुमार का कहना था कि प्रकरण उनके संज्ञान में नहीं है। अलबत्ता उनका मानना था कि थानेदार की गरिमा होती है जिसके तहत वह काम करता है।

लाव लश्कर के साथ पहुंचे थे विधायक
बताया जाता है कि बैरिया के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह एससी-एसटी एक्ट के एक मामले में पैरवी के लिए थाने पहुंचे थे। आने के साथ वह एसएचओ की कुर्सी पर बैठ गए और मामले को लेकर निर्देशित करने लगे। गौरतलब है कि इस एक्ट के मामले की विवेचना सीओ स्तर के अधिकारी करते हैं और थानेदार ने यह बताया लेकिन विधायक पर कोई असर नहीं हुआ। घटनाक्रम के दौरान थाने में अन्य पुलिसकर्मियों के अलावा और काफी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता भी मौजूद थे। थानेदार की कुर्सी पर बैठकर निर्देश देने का मामला क्षेत्र में चर्चा में तब आया जब किसी ने इसकी फोटो सोशल मीडिया में डाल दी। इसे लेकर लोग तीखे कमेंट भी कर रहे हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment