वाराणसी। उन्नाव और कठुआ रेप की घटनाएं अब बीजेपी के लिए गले की फांस बन गई है। देश के कोने-कोने में इन घटनाओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इलाहाबाद के बाद प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी विरोधियों ने बीजेपी के खिलाफ पोस्टर लगाए हैं। पोस्टर के जरिए विरोधियों ने बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं को अपने मोहल्ले में इंट्री देने से मना कर दिया है। इन पोस्टर्स के सामने आने के बाद जिला प्रशासन की नींद उड़ी हुई है।

क्या लिखा है पोस्टर में ?

देश में रेप की बढ़ती घटनाओं के खिलाफ विरोध जताने के लिए ये पोस्टर लगाए गए हैं। वाराणसी के भीड़भाड़ वाले नई सड़क मोहल्ले में ये पोस्टर लगे हैं। इन पोस्टरों पर लिखा है कि ‘ इस मोहल्ले में बीजेपी नेता और कार्यकर्ता का आना मना है, यहां पर महिलाएं और बच्चियां रहती हैं ‘’।  पोस्टर अहमद रजा उर्फ बाबू नाम के एक शख्स ने लगावाया है। ये खुद को सपा का नेता बता रहा है। दरअसल नई सड़क मोहल्ला मुस्लिम बहुल इलाका है।

इलाहाबाद में भी लग चुके हैं पोस्टर

इसी तरह के पोस्टर दो दिन पहले इलाहाबाद में भी लगे थे। वाराणसी की तरह इलाहाबाद में लगे पोस्टरों में भी कुछ इसी तरह की अपील करते हुए रेप की घटनाओं का विरोध किया गया था। फिलहाल प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र होने के नाते खुफिया विभाग और जिला प्रशासन ने इस घटना को गंभीरता से लिया है।

admin

No Comments

Leave a Comment