बलिया। जिला मुख्यायल से करीब पचीस किलो मीटर दूर बिल्थरारोड पर बना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर यूं तो हजारों लोगों की जिंदगी बचाने का जिम्मा है। लेकिन भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों और कर्मचारियों की वजह से लोगों की जान पर आफत बन आई है। आलम ये है कि इस अस्पताल में डॉक्टरों की जगह वॉर्ड ब्वॉय मरीजों का ईलाज कर रहे हैं जबकि डॉक्टर मौज काट रहे हैं।  ये सब कुछ हो रहा है स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की मिलीभगत से।

डीएम के फोन के बाद जागा अस्पताल प्रशासन

रविवार की रात सड़क हादसे में गंभीर रुप से जख्मी एक युवक अस्पताल पहुंचा। इस दौरान अस्पताल का जो मंजर था हैरान करने वाला था। अस्पताल से डॉक्टर गायब थे। सिर्फ वॉर्ड ब्वॉय के भरोसे मरीजों का ईलाज चल रहा था। युवक के साथ अस्पताल पहुंचे एक शख्स ने इस बात की शिकायत डीएम से कर दी। इसके बाद तो स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में अस्पताल के अधीक्षक डा. जीपी चौधरी पहुंचे तो युवक का ईलाज शुरू हुआ। इस खबर की पूरे क्षेत्र में जबरदस्त चर्चा रही।

अस्पताल से गायब रहते हैं डॉक्टर

स्थानीय लोगों के मुताबिक अस्पताल में तैनात डॉक्टर और कर्मचारी अधिकतर गायब रहते हैं, जबकि इनकी उपस्थिति प्रतिदिन दर्ज होती है। स्थानीय लोग बहुत मजबूरी में ही अस्पताल पहुंचते हैं क्योंकि अस्पताल वॉर्ड ब्वॉय के भरोसे चलता है। लोगों ने इस बात की शिकायत सीएमओ से भी लेकिन डॉक्टरों की आदत में बदलाव नहीं हुआ।

admin

No Comments

Leave a Comment