जौनपुर। नगर के प्रतिष्ठित डाक्टर और ईशा हास्पिटल के संचालक रजनीश श्रीवास्तव से 50 लाख रुपए रंगदारी वसूलने का मुख्य आरोपी सुधांशू सिंह उर्फ रिशू सिंह सोमवार को पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने उसके पास से मुन्ना बजरंगी के नाम पर वसूले रंगदारी के 38 लाख रुपए, एक पिस्टल और तीन कारतूस बरामद किया है। इस बड़ी सफलता पर एडीजी वाराणसी जोन पीवी रामाशस्त्री ने 50 हजार और एसपी केके चौधरी ने 25 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा किया है। उधर पीड़ित डाक्टर ने भी दो लाख रुपए नगद इनाम देने की घोषणा किया है। इस मामले में दो आरोपियों को पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है जिनके पास 8.90 लाख रुपए बरामद हुआ था।

दो करोड़ की मांगी गयी थी रंगदारी

लाइनबाजार थाना क्षेत्र के मड़ियाहूं पड़ाव पर स्थित ईशा हास्पिटल के मालिक डाक्टर रजनीश श्रीवास्तव को अज्ञात बदमाशो ने बीते 26 मई को फोन करके अपने आपको माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी बताते हुए दो करोड़ रुपए रंगदारी मांगी थी। डाक्टर ने इतने पैसा न होने की बात कही तो रंगदारी 50 लाख रुपए पर आ गयी। फोन करने वालो ने 28 मई को रंगदारी न देने पर डाक्टर की बेटी को जान से मारने की धमकी दी थी। आतंक के चलते डाक्टर ने बगैर पुलिस को सूचना दिये 50 लाख रुपए बदमाशो को दे दिया। धीरे धीरे यह बात खुलने लगी तो पुलिस ने डाक्टर पर दबाव बनाया। दशा यह थी कि पहले डाक्टर ने 15 लाख रुपए रुपए देने की रिपोर्ट दर्ज कराया। पुलिस ने सर्विलांस के जरिये दो आरोपियों को गिरफ्तार करके उनके पास से रंगदारी के वसूल किये गये आठ लाख 90 हजार रुपए बरामद किया।

डीजीपी के आदेश पर दर्ज हुई थी दूसरी एफआईआर

रंगदारी के रूप में 50 लाख वसूलने का खुलासा होने पर डीजीपी ओपी सिंह के निर्देश पर पीड़ित डाक्टर ने दूसरी रिपोर्ट दर्ज कराते हुए 50 लाख रुपए वसूले जाने की बात बतायी। एसपी केके चौधरी ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए लाईनबाजार, चंदवक,मुंगराबादशाहपुर थाने की पुलिस और क्राइमब्रांच टीम को लगाया। एसपीसिटी अनिल कुमार पाण्डेय ने बताया कि आज सूबह सभी टीमे जेसिज चैराहे पर मौजूद थी इसी बीच मुखवीर से सूचना मिला कि डा. रजनीश से पचास लाख रुपए की रंगदारी वसूलने वाले गिरोह का मुखिया सिटी स्टेशन से किसी टेज्न से भागने वाला है। टीमे सूचना मिलते ही सिटी स्टेशन के आसपास घेराबंदी किया इसी बीच सैदनपुर गांव की तरफ से एक युवक स्कूली बैग लिए हुए स्टेशन की तरफ आता दिया। पुलिस ने उसे पकड़कर तलाशी ली तो उसके पास एक .32 बोर की पिस्टल तीन कारतूस और बैग में 38.10 लाख रुपए बरामद हुआ। पुछताछ में उसने अपना नाम सुधांशू सिंह उर्फ रिशू सिंह पुत्र विरेन्द्र सिंह निवासी दमोदरा (रामपुर) बताया। उसने कबूल किया कि उसने अपने तीन साथियों के साथ एक योजना बनाकर डाक्टर रंजनीश से मुन्ना बजरंगी की खातिर 50 लाख रुपए वसूल किया था।

admin

No Comments

Leave a Comment