लखनऊ। इसे बागपत जेल में माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या का असर माना जाये या जेलों से गिरोहों के संचालन की शिकायत। प्रदेश सरकार सूबे की सभी जेलों में डीप सर्च मेटल डिटेक्टर लगाने की तैयारी कर चुकी है। इसके तहत प्रदेश की 70 जेलों में 2-2 मेटल डिटेक्टर लगेंगे। बजरंगी की हत्या के बाद डीजी जेल ने इसकी खातिर अनुरोध किया था। राज्यपाल की तरफ से इसके लिए 2.09 करोड़ का बजट भी पास हो चुका है। शासन के सचिव ने डीजी जेल को इस आशय का पत्र भेजा है और माना जा रहा है कि जल्द ही टेंडर समेत दूसरी जरूरी औपचारिकता पूरी कर डीप सर्च मेटल डिटेक्टर लगाने का काम जेलों में शुरू हो जायेगा।

तलाशी व्यवस्था होगी सुदृढ़

बजरंगी की हत्या के एक पखवारे बाद डीजी जेल ने शासन को इस आशय का पत्र भेजा था। इसमें जेलों की तलाशी व्यवस्था को सुदृढ़ करने की खातिर डीप सर्च मेटल डिटेक्टर की आवश्यकता जतायी थी। शासन से शर्तो केसाथ इसे मंजूरी दे दी है। बजट भले मंजूर हो गया है लेकिन कार्यदायी संस्था के टेडर के माध्यम से काम होगा। उपकरणों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी डीजी जेल और संबंधित संस्था की होगी।

admin

No Comments

Leave a Comment