सीएए के विरोध में पुलिस पर हमले के आरोपित को मिली जमानत, पहले जारी हुआ था एनबीडब्ल्यू

वाराणसी। अपर सत्र न्यायाधीश (चतुर्दश) अनुरोध मिश्र की अदालत ने गुरुवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी के विरोध में बेनियाबाग पार्क में विरोध-प्रदर्शन व पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में आरोपित अफजल खान की जमानत अर्जी मंजूर कर ली। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने और पत्रावली का अवलोकन करने के बाज जमानत का आधार पाते हुए प्रार्थनापत्र मंजूर कर लिया।

फोर्स पर पथराव का था आरोपित

बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव के अनुसार बेनियाबाग पार्क में 23 जनवरी 2020 को कुछ लोग सीएए व एनआरसी के विरोध में धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। सूचना पर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव शुरू कर दिया था। इस पर पुलिस ने बल प्रयोग कर लोगो को वहां से खदेड़ दिया। इस मामले में चौक थाने में 32 नामजद व 5-6 सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस की विवेचना के दौरान आरोपित भीखाशाह गली बेनियाबाग निवासी अफजल खान का नाम प्रकाश में आने पर 29 जनवरी को कोर्ट ने उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था।

Related posts