लखनऊ। मऊ सदर के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी मंगलवार की सुबह बांदा जेल स्थित बैरक में चक्कर आने के बाद गिर गये। अरम्भिक जांच के बाद जेल के डाक्टरों ने दिल का दौरा पड़ने की अशंका जताते हुए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। संयोग था कि पत्नी आफ्शां अंसारी जेल में विधायक से मिलने जा रही थी और हार्ट अटैक की जानकारी मिलने के बाद उनकी हालत भी बिगड़ गयी। उधर गाजियाबाद से गोरखपुर तक मुख्तार अंसारी को दिल का दौरा पड़ने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। कोई जेल में पत्नी से मुलाकात के दौरान दौरा पड़ने का दावा कर रहे था तो कुछ उत्साहियों ने खाने में जहर मिलाने का हल्ला मचा दिया। कुछ तो जेल में किसी से तकरार के बाद हालत बिगड़ने का दावा करने लगे। बहरहाल स्थिति गंभीर देखते हुए डाक्टरों ने मेडिकल कालेज के लिए रेफर किया है। समूचे घटनाक्रम पर शासन की नजर बनी है और डीएम-एसपी बांदा से संयुक्त रिपोर्ट तलब की गयी है।

बांदा जेल को लेकर मुख्तार ने लगाये थे आरोप

विधानसभा के शीतकालीन सत्र में हिस्सा लेने की खातिर आये मुख्तार अंसारी ने प्रदेश शासन से लेकर प्रतिद्वंदी बृजेश सिंह पर संगीन आरोप लगाये थे। उनका कहना था कि जेल में हत्या की साजिश रची जा रही है जिके तहत उन्हें बांदा भेजा गया है। विरोधी को कहीं नहीं शिफ्ट किया गया और जेल से वह अपना साम्राज्य चला रहे हैं। मुख्यमंत्री को प्रार्थनापत्र देने के साथ मुख्तार का कहना था कि यदि उनकी हत्या होती है तो इसके जिम्मेदार केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा होंगे।

घटनाक्रम पर शासन बनाये है नजर

इस बाबत एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार का कहना है कि मुख्तार अंसारी को जहां भी डॉक्टर रेफर करते हैं उन्हें पूरी सुरक्षा के साथ पहुंचना पुलिस की जिÞम्मेदारी है। हम पूरे हालात पर नजर बनाये हैं। दूसरी तरफ प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बांदा डीएम व एसएसपी से ज्वाइंट रिपोर्ट मांगी है। उनका कहना है कि पहले मेडीकल कालेज कानपुर रेफर करने की जानकारी दी गयी है। विधायक को हर संभव इलाज मुहैया कराया जायेगा। मुख्तार के बड़े भाई और पूर्व सांसद अफजाल अंसारी का कहना है कि तबियत काफी खराब है और रेफर किया गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment