आजमगढ़। ‘रीयल सिंघम’ के नाम से चर्चित एसपी अजय साहनी के नेतृत्व में जनपद पुलिस का मिशन इनकाउंटर जारी है। रविवार की रात रंगदारी के लिए फायर कर आतंक फैलाने वाले 50 हजार के इनामी कुख्यात बदमाश सुनील राम उर्फ सिपाही को पुलिस ने मेहनाजपुर के समीप साहसिक मुठभेड़ के दौरान धर-दबोचा। मुठभेड़ में बदमाश को गोली लगी थी जिससे उसे इलाज की खातिर ट्रामा सेंटर बीएचयू रेफर किया गया है। ढाई दर्जन से अधिक संगीन मामलों के आरोपित सुनील सिपाही ने आपसाप के कई जनपदों में ताबड़तोड़ वारदात को अंजाम देकर आतंक फैला रखा था। उसकी गिरफ्तारी से पुलिस के साथ आमजन ने राहत की सांस ली।

बचने के लिए अपने साथी को मार डाला था

मूल रूप से बहरियाबाद (गाजीपुर) के वधाव-देईपुर गांव निवासी सुनील ने 2013 में जंगीपुर गाजीपुर में एक र्स्वणकार को लूटने की नियत से घेरा था। सुनील राम उर्फ सिपाही व उसके चार साथी दो मोटरसाईकिल पर सवार होकर लूटने का प्रयास करने लगे कि जनता ने लामबंद होकर दौडा लिया। इसपर सभी अपराधी मोटरसाइकिल पर सवार होकर भागने का प्रयास करने लगे। एक साथी नागेन्द्र राम मोटरसाइकिल पर नहीं बैठ पाया जिसपर सुनील राम उर्फ सिपाही ने सोचा कि पकडे जाने पर यह सबके बारे में पूरी जानकारी पुलिस को बता देगा यह सोचकर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी व फरार हो गये।

कुछ घंटे पहले ही रंगदारी के लिए की थी फायरिंग

सुनील पिछले कुछ हफ्तों से डा. शिवरतन यादव जिनका मेडिकल स्टोर्स जहानागंज आजमगढ़ में है से 5 लाख की रंगदारी मांग रहा था। रविवार की रात पौने 9 बजे डा. शिवरतन यादव अपने मेडिकल स्टोर पर बैठे थे कि मोटरसाइकिल सवार दो बदमाश दहशत फैलाते हुए मेडिकल स्टोर पर फायरिंग कर भाग गये। इसकी सूचना एसओ जहानागंज ने कंट्रोल रूम को दी जिस पर चेकिंग अभियान चल रहा था। भोर में 5 बजे थाना प्रभारी मेंहनाजपुर पियरा मोंड पर चेकिंग कर रहे थे तभी सामने से एक मोटरसाइकिल सवार संदिग्ध व्यक्ति आता हुआ दिखाई दिया। भागने का प्रयास करते समय दोनों तरफ से फायरिंग में सुनील जख्मी हो गया।

admin

No Comments

Leave a Comment