गाजीपुर। लोकसभा चुनाव में एक साल से कम का समय बचा है। ऐसे में राजनेता ही नहीं उनके समर्थक तक सक्रिय हो गये हैं। उनसे जुड़े कार्यक्रम तो सोशल मीडिया पर शेयर किये जाते थे लेकिन दूसरे खेमे को दिखाने या चिढ़ाने की खातिर जन्मदिन सरीखे निजी कार्यक्रम के जरिये चुनौती पेश करने की कोशिश की गयी। बसपा नेता अतुल राय के समर्थकों ने कुछ ऐसा ही गुरुवार को किया। जनपद और पूर्वांचल तक ही नहीं बल्कि दिल्ली व हरियाणा सरीखे दूसरे प्रदेशों तक में कार्यक्रमों का आयोजन कर डाला। यह बात दीगर है कि खुद अतुल राय दिल्ली में थे लेकिन वहां पर भी जोनल कोआर्डिनेटर रामकुमार कुरील, इंदल राम और बिनोद बागडी की मौजूदगी में केक कटा और सबको बंटा।

54

रक्तदान की होड, बांटे गये फल

अपने नेता के जन्मदिन पर आईएमए वाराणसी की लहुराबीर स्थित कार्यालय पर सुबह से रक्तदान करनेवालों की कतार लगी रही। एक बार में चार यूनिट ही रक्त लिया जा सकता है जिसके चलते दोपहर बाद बड़ी संख्या मे लोगों को लौटना पड़ा। ऐसा कार्यक्रम दूसरे जिलों में भी हुआ। इसी तरह विद्यालयों और अस्पतालों में फल वितरित किये गये। सोनभद्र से लेकर बलिया,बरेली, लखनऊ और नोएडा तक अतुल राय के समर्थक न सिर्फ कार्यक्रम आयोजित कर रहे थे बल्कि सोशल मीडिया पर उसे शेयर कर रहे थे।

परोक्ष रूप से ‘मंत्री’ को चुनौती

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही जनपद के कद्दावर नेता ओर केन्द्र में मंत्री मनोज सिन्हा का जन्मदिन था जिसे उनके समर्थकों ने मनाया था। ‘विकास पुरूष’ के नारे से भले बैनर-होर्डिंग के जरिये भारी दिखाने की कोशिश की गयी लेकिन इसे चुनौती के रूप में लेते हुए अतुल राय के समर्थकों ने दिखा दिया कि वह कम नहीं हैं। खास यह कि दोनों एक ही जाति के नेता हैं। मंत्री का खासा राजनैतिक तजुर्बा हों लेकिन इस मोर्चे पर युुवा नेता के समर्थकों ने दिखा दिया कि क्यों भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ‘सोशल मीडिया’ के मोचे4 पर काम करने की नसीहत दे रहे हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment