चंदौली। जीवन के इस भाग-दौड़ और अपने आपको कम श्रम व कम समय में अधिक से अधिक आधुनिक संसाधनों तक पहुँचा लेने की होड़ ने रिश्तों की ड़ोर को कितना कमजोर कर दिया है कि आपसी पति-पत्नी के रिश्ते भी दरकने लगे है। जनसेवक के रूप में पुलिस अपनी जिम्मेदारियों एवं दायित्वों को पूर्ण निष्ठा के साथ निभाते हुए इन टूटते रिश्तों को पुन: एक मजबूत कड़ी के रूप में जोड़ने का भी सफल प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में एसपी चंदौली संतोष कुमार के सार्थक प्रयासों का नतीजा रहा कि एक परिवार टूटने से बच गया। सोमवार को दोनों पक्षों की काउंसलिंग के बाद दम्पति एक बार फ्रि से साथ रहने के लिए राजी हो गये।
मुकदमा दर्ज करने से पहले एक प्रयास का दिया था सुझाव
एसपी चंदौली के समक्ष प्रीति मौर्या पुत्री अलगू मौर्या निवासी नटवा (मीरजापुर) पति और ससुरालवालों के खिलाफ प्रार्थनापत्र लेकर आयी थी। प्रीति का विवाह रवि मौर्या इनायतपुर धीना (चन्दौली) के साथ हुआ था। कुछ दिनों बाद पति-पत्नी का आपसी विवाद हुआ तथा पत्नी अपने मायके में रहने लगी। एसपी ने समझाया कि मुकदमा कायम कराना आसान हैै लेकिन इसके बाद का जीवन कैसे गुजर करोगी। एक प्रयास कर लेते हैं और तुम संतुष्ट नहीं होगी तो मुकदमा कायम करा दिया जायेगा। प्रार्थना पत्र को एसपी ने महिला सेल प्रभारी एसआई प्रमिला यादव को भेजते हुए गंभीरता से उक्त प्रकरण के समाधान हेतु निर्देशित किया गया था। सोमवार को दोनों पक्षों को बुलाकर एक साथ बैठाकर कुछ सम्भ्रान्त लोगों के बीच जीवन सम्बन्धी मूल्यों के प्रति रिश्तों की अहमियत का पाठ पढ़ाया गया। इसके बााद पति और उसके परिवारजनों ने अपनी गलतियों को स्वीकार करते हुए जीवन में ऐसी गलती दुबारा ना करने की सौगन्ध खाकर एक दूसरे को माफ करते हुए पुन: अपने जीवन को एक दूसरे के साथ शान्तिपूर्वक बिताने को राजी हुए। दोनों परिवारों के साथ ही उपस्थित सभी ने पुलिस को इस मार्गदर्शन एवं परिवार को टूटने से बचाने के लिए किए गए इस अतिसराहनीय कार्य के लिए तहे दिल से शुक्रिया तथा धन्यवाद दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment