चंंदौली। वध की खातिर गोवंश को पंडुआ (पश्चिम बंगाल) ले जाने वाले पशु तस्कर अब पुलिस को चकमा देने की खातिर नित नये पैंतरे अपना रहे हैं। ऐसा ही नमूना नेशनल हाइवे पर देखने को मिला जब इंस्पेक्टर अलीनगर अतुल नारायण सिंह ने चेकिंग में ट्रक को पकड़ा तो उसमे उपर की तरफ आलू को बोरे लदे थे लेकिन नीचे की तरफ गोवंश को लादा गया था। तस्करों ने पुलिस टीम को कुचलकर भागने का प्रयास किया लेकिन घेराबंदी कर उन्हें धर-दबोचा गया। तीन तस्करों को गिरफ्तार करने के साथ ट्रक को जब्त कर मुकदमा कायम किया गया है।
जाता है गोवंश, आती हैं भैंसे
गिरफ्तार महेश जाट, परवेज और ने कबूल किया कि वह काफी दिनों से पशु तस्करी में संलिप्त हैं। पश्चिम उत्तर प्रदेश से गोवंश को लाद कर वध की खातिर पश्चिम बंंगाल पहुंचाया जाता है। वापसी में डेहरी (बिहार) से भैंस और पड़वा लाद कर कानपुर तथा उन्नाव के कसाईखाने पहुंचाते हैं। चार से पांच दिन की हर ट्रिप पर इन्हें 10-10 हजार रुपये दिये जाते हैं। इन दिनों चेकिंग बढ़ गयी है जिससे गोवंश को ले जाने की खातिर दूसरे प्रबंध करने पड़ रहे हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment