चुनावी मैदान में MBA पास ‘अर्थी बाबा’, श्मशान घाट पर खोला कार्यालय

गोरखपुर। यूपी विधानसभा चुनाव के अलग-अलग रंग देखने को मिल रहे हैं। जनता के बीच पैठ बनाने के लिए प्रत्याशी जमकर प्रचार-प्रसार में जुटे हैं। लेकिन एक ऐसा प्रत्याशी है, जिसने अपना चुनावी कार्यालय श्मशान घाट पर खोल दिया है और वो यही से अपने चुनाव का पूरा संचालन भी करेंगे। ये हैं गोरखपुर से चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले राजन यादव उर्फ अर्थी बाबा

मैनेजमेंट की पढ़ाई कर चुके हैं अर्थी बाबा

अर्थी बाबा की कहानी भी बेहद जुदा है। एमबीए पास अर्थी बाबा इसके पहले भी एमएलए, एमएलसी और एमपी के चुनाव में अपनी अनोखी कार्यशैली से पहचान बनाई हैं। ये अपने संघर्षो के आधार पर अपनी जीत सुनिश्चित मान रहे हैं। राजन यादव ने अपने दर्जनों समर्थकों के साथ गोरखपुर के श्मशान घाट पर पहुंचें। जहां पर इन्होंने अपना चुनावी कार्यालय खोला।
अर्थी बाबा की स्टाइल से हैरत में लोग

चुनावी अखाड़े में अर्थी बाबा की इस स्टाइल से लोग भी हैरत में हैं। श्मशान घाट पर चुनाव कार्यालय खोलने की बाबा की थ्योरी को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा है। कार्यालय खोलने पहले अर्थी बाबा ने श्मशान घाट पर मौजूद लोगों से समर्थन मांगा और अर्थी पर बैठकर प्रचार भी किया। जनता से समर्थन मांगते हुए अपने संघर्षों के बारे में भी बताया। लोग कुछ समझ पाते उससे पहले इस अनोखे प्रचार को देखकर हैरत में पड़ गए और देखते ही देखते सैकड़ो की संख्या में अर्थी बाबा के विचारो को सुनने लगे।

 जनता की सेवा का किया दावा
इस संबंध में 326 चौरीचौरा विधानसभा क्षेत्र से निर्दल प्रत्याशी अर्थी बाबा ने बताया कि वो पिछले कई सालो से जनता की सेवा कर रहे है। यहां पर मूलभूत सुविधाओं का अभाव है और अपने संघर्षो के आधार पर वो जनता से वोट मांग रहे है।अगर वो जीतते है तो वो अपनी सैलरी का सारा पैसा गन्ना किसानों को दे देंगे। उन्होंने बताया कि चुनाव अब धन बल के जरिए लड़ा और जीता जा रहा है। उनका कहना है कि ‘मेरे पास न तो धन है न ही बल, मैं आम आदमी के रूप में जनता के साथ हूं।’

 

 

Related posts