शिकायत ‘ट्वीट’ करने के कुछ देर बाद ही शोहदे बस से उतार कर गिरफ्तार, सीएम का एन्टी रोमियों अभियान दिखा रहा अपना असर

लखनऊ। सोशल नेटवर्किग साइट सिर्फ मनोरंजन के लिए नहीं होती बीलकि इनका सही इस्तेमाल किया जाये तो खासा असर होता है। इसकी बानगी सोमवार को अयोध्या जनपद में देखने को मिली। सवारी बस में छेड़खानी की शिकायत पीड़ित युवती ने ट्वीटर के माध्यम से युवती ने यूपी पुलिस के ट्विटर हैंडल पर शिकायत की थी। लखनऊ से बस्ती की ओर बस से जा रही है के साथ बस में ही बैठे दो युवक छेड़खानी कर रहें हैं। शिकायत को तत्काल संज्ञान लेते हुए एडीजी कानून व्यवस्था पीवी रामा शास्त्री व सोशल मीडिया सेल मुख्यालय, लखनऊ ने यह सूचना एमडी परिवहन, डीएम अयोध्या, एसएसपी अयोध्या आशीष तिवारी व सोशल मीडिया सेल अयोध्या को दी गयी। अयोध्या पुलिस को उक्त सूचना मिलते ही आरटी सेट के माध्यम से बस के रास्ते में पड़ने वाले सभी पीआरवी गाड़ियों, सभी सम्बन्धित चौकियों व थाना प्रभारियों को अलर्ट कर दिया गया।

इस तरह दिया आपरेशन को अंजाम

तत्परता दिखाते हुए एसएसपी के निर्देशन में अयोध्या पुलिस के पीआरवी 4385 (टू व्हीलर) पर तैनात कांस्टेबिल प्रमोद कुमार, चालक आशीष सिंह, भेलसर चौकी पर सिपाही अशोक कुमार व स्केन्द कुमार ने बस को रोककर दोनों आरोपियों को अपने हिरासत में लिया। इस बीच मौके पर इंस्पेक्टर रूदौली भी मय फोर्स पहुंच गये। दोनों आरोपियों को रूदौली पुलिस के सुपुर्द किया गया। इसके बाद दोनों आरोपियों से पूछताछ कर दोनो पर आवश्यक कार्यवाही की गयी। युवती द्वारा बताया गया कि उक्त दोनो आरोपी काफी देर से छेड़खानी कर रहे थे। युवती को सकुशल उसके गन्तव्य को रवाना किया गया।

धन्यवाद की लगा दी झड़ी

इस प्रकार सभी उच्च अधिकारियों के कुशल निर्देशन में व अयोध्या पुलिस टीम के द्वारा तत्परता दिखाते हुए अतिशीघ्र कार्यवाही की गयी जिसकी लोग काफी सराहना कर रहें हैं। पीड़िता अयोध्या पुलिस की तत्काल सहायता से संतुष्ट हुई व सोशल मीडिया पर आभार व्यक्त किया। बार-बर लिखा कि थैंक्यू यूपी पुलिस, थैंक्यू अयोध्या पुलिस। शोहदों को सबक सिखाने के लिए बस एक ट्वीट ही काफी है।

Related posts