ईवीएम को लेकर ऐसी भी अफवाह जिस पर कर ले कोई विश्वास, जौनपुर पुलिस ने दबोचा तो हुआ खुलासा

जौनपुर। जनपद की सदर और मछलीशहर संसदीय क्षेत्र में वोटिंग छठें चरण में ही हो चुकी है। ईवीएम को चौकिया स्थित स्ट्रांग रूम में रखा गया है। एक सप्ताह तक इसे लेकर कोई शिकायत नहीं रही लेकिन सोमवार की रात पूर्वांचल के दूसरे जनपदों में बवाल का सिलसिला शुरू हुआ तो यहां भी बवाल की साजिश रची गयी। फेसबुक पर बाकायदा फोटोग्राफ और वीडियो डाल कर प्रचारित किया गया कि ईवीएम को बदला जा रह है जिसमें पुलिस-प्रशासन शामिल है। पहले तो विवाद को शांत कराया गया और इसके बाद हाइटेक कप्तान आशीष तिवारी ने बारीकी से जांच करायी तो स्पष्ट हुआ कि फैजान नामक युवक ने समूचा फर्जीवाड़ा फैलाया था। पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार करने के साथ संबंधित मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया।

दूसरे स्थान के थे वीडियो-फोटोग्राफ

सीओ नगर नृपेन्द्र ने घटनाक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि कोतवाली के मीरमस्त मुहल्ला निवासी फैजान ने सोमवार की रात अपने फेसबुक पेज पर अफवाह फैलायी कि ईवीएम को बदला जा रहा है। इसके प्रमाण के रूप में कुछ फोटोग्राफ और वीडियो भी अपलोड कर दिया। नतीजा, कुछ देर बाद बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। वहां सब कुछ सामान्य चल रहा था और अचानक हुए घटनाक्रम से पुलिस सकते में रह गयी। साइबर सेल से मिली जानकारी के बाद इंस्पेक्टर लाइन बाजार संजीव मिश्र ने सटीक सूचना पर घेराबंदी कर आरोपित को धर-दबोचा। साइबर एक्ट समेत आईपीसी की धाराओं के तहत कायम मुकदमे में गिरफ्तार कर उसे सलाखों के पीछे डाल दिया गया। जांच में स्पष्ट हुआ कि किसी दूसरे स्थान पर हो रहे हंगामे के फोटोग्राफ और वीडियो के जरिये फैजान ने अफवाह फैला कर बवाल का ताना-बाना रचा था। बहरहाल पुलिस ने जहां एक तरफ भोर तक बवाल होने की साजिश को नाकाम किया वहीं दूसरे दिन आरोपित को दबोचते हुए समूचा खेल उजाकर दिया।

Related posts