गाजीपुर। बसवानी चट्टी (मोहम्मदाबाद) में 29 नवंबर 2005 को बदमाशों की गोली का निशाना बने तत्कालीन भाजपा विधायक कृष्णानंद राय समत सात लोगों का शहादत दिवस हर साल की तरह मनाया गया। इसमें रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा समेत तमाम लोग मौजूद थे। नम आखों से सभी ने स्व. राय को याद किया लेकिन सैयदराजा के भाजपा विधायक सुशील सिंह के भाषण ने एक बार फिर खलबली मचा दी है। विधायक का कहना था कि पिछले साल जेल में सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र किया था और ऐसा हो भी गया। कोर्ट में इंसाफ मिलने में देर हो सकती है लेकिन भगवान के यहां अंधेर नहीं है। तालियों की गड़गहाट के बीच विधायक यहां तक कह गये कि अगले साल फिर आयेंगे और एक और बड़ी खुशखबरी रहेगी।

पिछली सरकार में इस्लामिक आतंकवाद को था सरकारी संरक्षण

मोहम्मदाबाद की मौजूदा विधायक और स्व. कृष्णानंद की पत्नी अलका राय के उद्बोधन के समय रेलराज्यमंत्री इस कदर भावुक हो गये कि उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे। उन्होंने कृष्णानंद राय की शहादत को नमन करने के संग तत्कालीन सपा सरकार पर करारे प्रहार किये। साफ शब्दों में कहा कि पिछली सरकार में इस्लामिक आतंकवाद तो पूरा संरक्षण प्राप्त था। इसी की वजह से हमारे प्रिय विधायक कृष्णानंद राय और साथी हमारे बीच नहीं हैं। दिल्ली की सीबीआई कोर्ट में चल रहे बहुचर्चित कृष्णानंद राय के मामले में रेल राज्यमंत्री ने कहा कि मैं हर साल लेखा-जोखा आपके सामने प्रस्तुत करता हूं। अदालत में मामला अंतिम चरण में है जिसकी रोजाना सुनवाई हो रही है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि कोर्ट जन भावनाओं का सम्मान करेगा।

बगैर सरकारी सहायता के बना स्मारक

मनोज सिन्हा ने अतीत के पन्नों को पलटते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव उस वक़्त सीएम थे। उन्होंने पूछा था उनके बच्चे की पढ़ाई का कितना खर्च लगेगा। उनके बड़े पुत्र को अमेरिका जाना था। तब मैंने मुलायम सिंह से कहा कि आपके पूरे खानदान की हैसियत नहीं है। मनोज सिन्हा ने कड़ी आपत्ति जताते हुए मुलायम सिंह से कहा था नाम मत लिजियेगा। साथ ही उन्होंने आम जनता से वादा किया कि जैसा स्मारक शिवपूजन राय का बना था ठीक वैसा ही स्मारक स्वर्गीय कृष्णानंद राय का बनेगा और 6 महीने में यह स्मारक बना करके तैयार कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि कृष्णानन्द राय का स्मारक सरकारी सहायता से बने ये मनोज सिन्हा को मंजूर नहीं। कार्यक्रम में प्रदेश सरकार में मंत्री उपेंद्र तिवारी,बलिया सांसद भरत सिंह, कृष्णानन्द राय की पत्नी मोहम्दाबाद विधायक अल्का राय और बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह के साथ ही बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता और आमजन मौजूद रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment