आजमगढ़। सूबे की कमान योगी के संभालने के बाद पूर्वांचल के एक ही जिले में सर्वाधिक मुठभेड़ हुई है। यहां के एसपी अजय साहनी का कुछ ऐसा खौफ है कि कुख्यात और चर्चित अपराधी जमानत तुड़वा कर जेल जा रहे हैं। सोमवार की रात पुलिस ने वाहन चोरों के अंतरराज्यीय गिरोह को दबोचा जिनका सरगना एक वकील था। पुलिस ने कुल 14 लोगों को गिरफ्तार किया है जिनके कब्जे से एक कार के अलावा 56 मोटरसाइकिलें मिली हैं। गिरफ्तारी और बरामदगी में शामिल पुलिस टीम को एसपी की तरफ से 10 हजार नकदी के संग प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की गयी है।

827

सटीक सूचना पर हुई छापेमारी

पुलिस को सूचना मिली थी कि आसपास के कई जनपदों से वाहन चुरा कर यहां डंप किये जाते हैं और इसके बाद इसकी बिक्री होती है। सटीक जानकारी पर पुलिस ने कोलघाट इलाके में एक वकील के घर पर छापा मारा जहां से एक मोटरसाइकिल, एक कार और कई वाहनों के कुछ हिस्से बरामद किए। पुलिस ने उस जगह पर एक मैकेनिक भी पकड़ा जिससे मिली जानकारी के आधार पर तत्काल कार्रवाई आरम्भ की गयी। कई अन्य स्थानों पर छापेमारी कर कुल 56 मोटरसाइकिलें और एक कार को जब्त कर लिया और 10 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया।

गैंगस्टर के तहत होगी कार्रवाई

आजमगढ़ एसपी का दावा है कि वकील गिरोह के नेता थे और वह चोरी करने वाले वाहनों को बेचने से पहले अपने घर में रखता था। गिरफ्तार व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के अलावा गैंगस्टर अधिनियम के तहत भी कार्रवाई की जायेगी।

admin

No Comments

Leave a Comment