वाराणसी। कहते हैं सियासत में दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर जाता है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष इस बात को बखूबी समझते भी है और जानते भी। यही कारण है कि अमित शाह ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों को तेज करते हुए यूपी में डेरा डाल दिया है। अमित शाह 4 जुलाई को वाराणसी और मिर्जापुर के दौरे पर पहुंच रहे हैं। अमित शाह काशी, अवध और गोरखपुर प्रांत के पदाधिकारियों के साथ प्रदेश की मौजूदा सियासत को समझेंगे और आगे की रणनीति भी तय करेंगे। साथ ही पूर्वांचल के विभिन्न जिलों के आईटी सेल के 2 हजार कार्यकर्ताओं को सोशल साइट्स के टिप्स भी देंगे।

कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने की तैयारी

हाल के उपचुनावों में बीजेपी को मिली हार के बाद कार्यकर्ताओं में निराशा का माहौल है। सपा-बसपा के साथ आने के बाद राजनीतिक जमीन पर बीजेपी कुछ हद तक पिछड़ती दिख रही है। सोशल मीडिया पर बीजेपी समर्थक अब आक्रामक रहने के बजाय रक्षात्मक नजर आ रहे हैं। ऐसे में अमित शाह ने अब खुद कमान संभाल ली है। अमित शाह अपने यूपी दौरे की शुरुआत मां विंध्यवासिनी के आशीर्वाद के साथ शुरू करेंगे। वो पहले मिर्जापुर में काशी, अवध और गोरखपुर प्रांत के लोकसभा प्रभारियों के साथ ही संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक करेंगे। इसमें सांसदों के परफॉर्मेंस को परखा जाएगा। उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों की समीक्षा की जाएगी। साथ ही आगे की चुनावी रणनीति पर चर्चा होगी। अमित शाह की कोशिश है कि यूपी में कार्यकर्ताओं के जोश को बढ़ाया जाए।

सोशल साइट्स के सही इस्तेमाल पर देंगे टिप्स

इसके बाद अमित शाह प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचेंगे। बड़ा लालपुर स्थित ट्रेड फैसेलिटी सेंटर में अमित शाह पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों से आए आईटी सेल के 2 हजार कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। इस दौरान अमित शाह मिशन 2019 के लिए सोशल मीडिया के सही इस्तेमाल के टिप्स भी देंगे। आईटी सेल की ओर से उन लोगों को आमंत्रित किया गया है जो सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment