वाराणसी। बनारस कचहरी में एक हिन्दू लड़की के धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक से शादी कराने के प्रयास का मामला सामने आया है। इस सन्दर्भ में सेंट्रल बार असोसिएशन में अधिवक्ता उपेन्द्र नारायण सिंह और अनुराग पाण्डेय समेत सैकड़ो अधिवक्ताओं के हस्ताक्षरयुक्त दो अलग अलग प्रस्ताव लाया गया है। सेंट्रल बार अध्यक्ष प्रभुनाथ पाण्डेय ने इस मुद्दे पर सेंट्रल और बनारस बार की सन्युक्त बैठक शनिवार को सेंट्रल बार सभागार में बुलाने का आदेश सेंट्रल बार महामन्त्री संजय सिंह दाढ़ी को दिया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि 3 मई की शाम साढ़े 6 बजे सेंट्रल बार के एक मुश्लिम अधिवक्ता के चैम्बर में हिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन कराकर एक मुश्लिम लड़के के साथ मौलवी को बुलाकर शादी कराया जा रहा था। उस समय चैम्बर में दो अन्य अधिवक्ता,एक महिला अधिवक्ता और दो महिला भी थी,इस दौरान हिन्दू धर्म के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी भी की जा रही थी जो अशोभनीय थी,इस कार्य का प्रस्तावक ने विरोध किया तब ऐसा करने वाले कचहरी से बाहर चले गए। ऐसे में इस घटना की चर्चा कराकर हिन्दू भावनाओं को पहुंची ठेस पर अधिवक्ता के चैंबर का आवंटन रद्द करने,हिन्दू भावनाओ को ठेस पहुचाने और उन्माद कराने का प्रस्ताव पारित कर अधिवक्ता का रजिस्ट्रेशन रद्द कराने और इस कार्य में शामिल लोगो को कचहरी परिसर में लगे सी सी टीवी फुटेज से चिन्हित कर उचित कार्यवाही की मांग की गई है।

पहली बार कचहरी गरमायी ‘लव जेहाद’ से

इसके अलावा दूसरे अधिवक्ता अनुराग पाण्डेय के प्रस्ताव में कहा गया कि सेंट्रल बार में एक अधिवक्ता के चैम्बर में हिन्दू लड़की का मौलवी बुलाकर कलमा पढ़वाकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था पर अधिवक्ताओं के तीव्र विरोध के कारण उनका धर्मविरोधी असामाजिक प्रस्ताव असफल रहा। ऐसे में जिस अधिवक्ता का चैंबर रहा उसके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही किये जाने का अनुरोध किया गया। इन दोनों प्रस्ताव के आने से अधिवक्ताओं ने इस लव जेहाद की बात कहते हुए चर्चा तेज कर दी है। मुस्लिम युवक रेवड़ी तालाब और हिन्दू युवती नरहरपुर की बताई गई है।

आरोप के दायरे में आने वाले वकील ने दी सफाई

मामला तूल पकड़ने के बाद आरोप के दायरे में आने वाले वकील का बयान सामने आया है। उनका कहना है कि कुछ लोग कर रहे है जिनका वकालत से नही है सरोकार मामले को लेकर राजनीति कर रहे हैं। प्रेमी युगल बालिग हैं और अपनी स्वेच्छा से लड़की धर्मांतरण कर रही है। चैंबर में स्पेशल मैरेज एक्ट के तहत कागजी कार्यवाही कर रहे थे कि हंगामा हो गया। जिस मौलाना की बात की जा रही है वो प्रेमी युगल के रिश्तेदार है लेकिन उन्हें मौलवी बताया जा रहा है। कई वर्षों से प्रेमी युगल रह रहे है साथ-साथ और अब कानूनी रूप से होना चाहते है एक साथ।

admin

No Comments

Leave a Comment