वाराणसी। चौक समेत घनी आबादी वाले इलाके में मादक पदार्थ का कारोबार धडल्ले से होता है। कार्यभार ग्रहण करने के कुछ दिनों बाद ही सीओ दशाश्वमेध स्नेहा तिवारी के संज्ञान में अया कि एक वृद्धा खुलेआम हेरोइन का कारोबार करती है लेकिन पुलिस हाथ डालने का हौसला नहीं जुटा पाती। वजह, वृद्धा धमकी देती है कि घर में मौजूद युवतियों के संग छेड़खानी और दुष्कर्म का आरोप लगा कर फंसा देगी। इसे चुनौती के रूप में लेते हुए उन्होंने इंस्पेक्टर चौक एके सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की। सटीक सूचना के आधार पर शातिर हेरोइन तस्कर हुस्ना आरा उर्फ पारो निवासी हौज कटोरा चौक को गिरफ्तार कर लिया गया। तलाशी में उसके पास पुडियों में बंधी 22.70 ग्राम हेरोइन, 11 मोबाइल फोन और 210 रुपये नकद बरामद हुए। गुरुवार को चौक थाने में मीडिया के सामने तस्कर को पेश करते हुए सीओ ने बताया कि गिरफ्तारी में पर्याप्त महिला फोर्स लगायी गयी थी।

नकदी ही नहीं दूसरे सामान भी थे स्वीकार

आरम्भिक जांच में पता चला है कि हुस्ना आरा उर्फ पारो लंबे समय से हेरोइन का धंधा करती थी। हेरोइन की पुडिया के लिए सिर्फ नकदी ही नहीं बल्किमोबाइल से लेकर आभूषण तक उसे स्वीकार थे। अलबत्ता दाम औना-पौना लगता था और एवज में सिर्फ पुडिया ही मिलती थी। नशेडी इसके चलते लूट से लेकर उचक्कागिरी करने को तैयार रहते थे। नशे की तलब पूरा करने के लिए पारो अपराध करने को प्रेरित करती थी। बाद में इसे वह उंचे दाम में बेच देती थी। बरामद मोबाइल में अधिकांश ऐसे ही हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment