वाराणसी। शिवदासपुर (मंडुआडीह) स्थित रेड लाइट एरिया को बंंद करने के लिए एक बार फिर से सुगबुगाहट शुरू हो गयी है। शिवदासपुर प्रधान के पुत्र चंंदन गुुप्ता ने शनिवार को ग्रामीणों के संग रेड लाइट एरिया में नशाखोरों के जमघट और रेडलाईट एरिया बन्द करने की मांग को लेकर दोपहर धरना-प्रदर्शन के संग जुलूस निकाला। बाद इन लोगों ने मंडुवाडीह पुलिस को ज्ञापन भी दिया। दूसरी तरफ रेड लाइट एरिया की महिलाएं भी इनका विरोध करने सड़क पर उतर गई हैं। उनकी कहा है कि बगैर पुनर्वास के ऐसा किया गया तो वह आर-पार की लड़ाई लड़ेगी। लगभग एक दशक पहले भी यहां पर पुलिस ने रेड लाइट एरिया बंद करने के लिए पहल की थी लेकिन इसका असर उल्टा पड़ा।

रोजाना धरने की दी चेतावनी

रेड लाइट एरिया के नुक्कड़ पर धरना प्रदर्शन के दौरान प्रधान पुत्र ने कहा कि मुझे विरोधियों द्वारा बलात्कार की फर्जी मुकदमे में फसाने की कोशिश की जा रही। मैं इन लोगों का राजनीतिक कुचक्र किसी भी हाल में सफल नहीं होने दूंगा और जब तक यह रेड लाइट एरिया पूरी तरह से बंद नहीं हो जाता तब तक मैं यहां के ग्रामीणों के साथ रोजाना धरना दूंगा। इसके बाद इन लोगों ने रेड लाइट एरिया बंद करो बंद करो बंद करो के नारे के साथ रेड लाइट एरिया की गलियों में जुलूस भी निकाला। इसमें ककरमत्ता प्रधान वकील अंसारी नाजिम गुड्डू और गुड्डू पंडित सहित दर्जनों की संख्या में पुरुष और महिलाएं शामिल रहे।

161

महिलाओं ने की रोजगार की मांग

दूसरी तरफ रेड लाइट एरिया की महिलाएं भी इनका विरोध करने सड़क पर उतर गई हैं। इन महिलाओं का कहना है कि ऐसा होने से इनका धंधा बंद हो जायेगा। कमाई खत्म हो जायेगी जिससे खाने के लाले पड़ जायेंगे। अगर बंद करना है तो पहले उनके रोजगार का इंन्तजाम करें ताकि इन के दो जून की रोटी का इंतजाम होता रहे। सबसे बडा सवाल है कि इनकी बेटियों से शादी कौन करेगा। यही वजह है कि ये महिलाएं ये जगह छोड़ कर जाना नहीं चाहती हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment