मऊ। घोसी लोकसभा क्षेत्र के सांसद हरिनारायण राजभर फिर से सुर्खियों में है। इस बार वजह बना है पत्रकारों से विवाद। आरोप है कि सांसद के इशारे पर स्थानीय पुलिस ने चार पत्रकारों के खिलाफ अवैध खनन का फर्जी मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस की इस कार्रवाई को लेकर स्थानीय पत्रकारों में बेहद गुस्सा है।

खबर दिखाई तो बौखला गए सांसद

दरअसल सांसद हरिनारायण राजभर का विवादों से पुराना नाता है। पिछले तीन साल के दौरान कई बार ऐसे मौके आए जब सांसद महोदय बदजुबानी पर उतर आए। पिछले दिनों भी कुछ ऐसा ही हुआ। खबरों के मुताबिक उन्होंने कैमरे के सामने डीएम एसपी के साथ-साथ सूबे के मुख्यमंत्री तक को गाली दे डाली। गाली देने की ख़बर चैनल पर चलते ही सांसद बौखला गए और अपने सहयोगियों के चढ़ाने पर जनपद के चार पत्रकारों के खिलाफ अवैध खनन में शामिल होने का फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया। फर्जी मुकदमा दर्ज होने की ख़बर मिलते ही जिले के पत्रकारों में भारी आक्रोश व्याप्त है।

159

वाहवाही लूटने के चक्कर में फंस गए सांसद

खबरों के अनुसार पिछले दिनों सांसद ने अवैध खनन के खिलाफ अभियान चलाया था। उनकी सूचना पर स्थानीय पुलिस ने थाना सरायलखंसी के भलया गांव में  7 ट्रैक्टर और एक जेसीबी मशीन को पकड़ा। इस पूरे वाक्ये का वीडियो सांसद ने स्थानीय मीडिया को उपलब्ध कराया और खूब वाहवाही लूटी। इसी बीच 27 अक्टूबर को सासंद फिर से मीडिया के सामने आए, लेकिन इस बार उनका अंदाज कुछ जुदा था। पत्रकारों से बात करते-करते वह बदजुबानी पर उतर आए और मुख्यमंत्री समेत डीएम-एसपी को गालियां दे दी। बताया जा रहा है कि ये खबर कुछ चैनलों पर चल गई। इससे बौखलाये सासंद महोदय ने मीडिया को धमकी देने पर उतारू हो गए।

admin

No Comments

Leave a Comment