अपहरण के बाद युवक की कर दी गयी हत्या, नहर में शव मिलने के बाद पुलिस की तरफ से आयी यह सफाई

जौनपुर। संगीन मामलों को पुलिस प्राय: हल्के में लेती है। इसका नमूना शुक्रवार को खरतापपुर गांव (सरपतहा) निवासी युवक प्रदुमन उपाध्याय (21) लाश मिलने के बाद देखा गया। टीसौली गांव के पास नहर से गुरुवार की शाम शव बरामद हुआ तो इलाके में सनसनी फैल गई। शिनाख्त पुष्ट होने पर स्पष्ट हुआ कि 7 जनवरी की शाम प्रदुमन को किसी ने फोन करके नहर के पास मिलने के लिए बुलाया था। इसके बाद से ही वह लापता था। घरवालों ने थाने से लेकर आला अफसरों तक गुहार लगायी। अफसरों की दर पर मत्था पटकने का नतीजा रहा कि पुलिस ने 12 जनवरी को गुमशुदगी दर्ज कर कर्तव्य से इतिश्री पा ली।

एएसपी ने दिया आपराधिक इतिहास का वास्ता

गौरतलब है कि संदिग्ध हालात में युवक के लापता होने के बाद से परिवार के लोग अपहरण का आरोप लगाते रहे। बाकायदा इसकी आशंका जताते हुए थने पर तहरीर तक दी लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। घटना के 10 दिन बाद युवक का शव मिला तो सनसनी फैल गई। इस बाबत एएसपी का कहना है कि युुवक का आपराधिक इतिहास था। बहरहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

Related posts