आज़मगढ़। जेल पुलिस के सिपाही मान सिंह पर हुए कातिलाना हमले के बाद अब स्थानीय अधिकारी हरकत में हैं। घटना से बौखलाए एसपी अजय साहनी दलबल के साथ जेल पहुँच गए। इस दौरान उन्होंने जेल के चप्पे चप्पे की छानबीन की। जेल से कई आपत्ति जनक चीजे और मोबाइल भी बरामद हुआ।

बंदियों में मैच हड़कंप

फोर्स पर हुए हमले से व्यथित कप्तान अजय साहनी आज सीधे धटनास्थल पर पहुंचे जो की जेल के सामने था। इसके बाद कप्तान का लाव-लश्कर जेल में दाखिल हुआ और जेल के अंदर के तथा कथित सभी डाॅन लोगों को टर्नअप कराया गया। कप्तान खुद इस पूरी पूछताछ प्रक्रिया की कमान संभाले हुए थे।खातिरदारी के साथ शुरु हुई ये प्रक्रिया काफी देर तक चली। बताते है कि इस कठिन प्रक्रिया में जेल के कई शेर ढेर हो गये जिनका चाहरदीवारी के अंदर ही देखभाल हो रहा है।वैसे पुलिस भी पूरे मामले की छानबीन जेल को ही केंद्र में मान कर चल रही है।

जेल की अंदरुनी लड़ाई का नतीजा है सिपाही पर हमला

पुलिस का भी मानना है कि जेल की अंदरुनी लड़ाई के कारण मान सिंह पर हमला हुआ है। जेल के सिपाही पर हुए इस हमले के खुलासे को लेकर कप्तान ने 3 टीम बनाई है। सीओ सीटी सचिदानंद, सीओ सदर मोहम्मद अकमल खान और स्वाॅट टीम पर काम कर रही है जिसमे स्वाॅट टीम को सीधे कप्तान लीड कर रहे है।पुलिस की एक टेक्निकल टीम मोबाइल की तरंगों को भी खंगालने में जुटी है। घटना के वक्त मौके पर मौजूद और एक्टिव सेलफोन को देखा जा रहा है कि किसकी, किससे और कितनी देर बात हुई है। साथ एक्टिव नंबरों का वक्त कितना था और क्या वो घटना के बाद भी एक्टिव थे।

admin

No Comments

Leave a Comment