तस्कर भैंस-पडिया लादने के बाद मुंह दबाकर उठा ले गये घर के बाहर सोयी युवती, मची हडकंप तो प्रतापगढ़ सीमा पर छोड़कर भागे

जौनपुर। पशु तस्करों के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि उन्हें मवेशी और मनुष्य में फर्क नहीं लग रहा। ताजा मामला मुंगरा बादशाहपुर कस्बे के नई बाजार मुहल्ले का है। यहां शनिवार की देर रात गंगा मौर्या के दरवाजे पर बंधी भैंस और पड़िया को पिकप में लादने के बाद कुछ दूूर आगे सोयी युवती को भी मुंह दबाकर उठाने के बाद पिकप में बैठा लिया। आहट मिलने पर परिजनों ने शोर मचाया लेकिन तस्कर भाग चुुके थे। सूचना मिलने के बाद पुलिस के होश फाख्ता हो गये और जनपद की सीमा सीलकर चेकिंग शुरू हो गयी। तस्कर और चुराये गये मवेशी तो नहीं मिले अलबत्ता अगवा की गयी युवती बदहवासी की दशा में प्रतापगढ़ सीमा स बरामद हुई है।

पिकेट के पास की वारदात, लीपापोती का प्रयास

वारदात को जिस स्थान पर अंजाम दिा गया है उससे सौ मीटर से कम दूरी पर पिकेट तैनात रहती है। सम्भवत: इसीलिये लीपापोती के पूरे प्रयास शुरू हो गये हैं। मामला अपहरण का था लेकिन परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात पशु तस्करों के विरुद्ध छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कर कोरम पूरा कर लिया है। चोरी और अपहरण की वारदात को छिपा लिया गया। अलबत्ता पीड़िता को महिला सिपाही के संग जिला महिला अस्पताल में मेडिकल मुआयना के लिए भेजा गया है।

पुलिस की कार्यवायी पर उठे सवाल

रविवार को समूचे घटनाक्रम की जानकारी मिलने पर विहिप समेत दूसरे हिन्दूवादी संगठनों के दर्जनों लोग थाने पहुंच गए। इन लोगों ने युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म की आशंका जताते हुए मनबढ़ पशु तस्करों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग उठायी। इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज निकालकर पड़ताल की जा रहीहै। इसमें पशु तस्करों की पिकअप दिखाई पड़ रही है। जल्द ही आरोपितों को चिह्नित कर गिरफ्तार कर लिया जाएगा। बहरहाल समूचा घटनाक्रम पुलिसिंग पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है।

Related posts