चंदौली। प्रदेश की बिहार से सटी सीमा पर चल रहे ‘खेल’ का खामियाजा भुगतने के बाद यूपी के कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही शनिवार को पूरे तेवर में दिखे। यूपी-बिहार बॉर्डर पर लगभग 4 घंटे तक जाम में फंसने के बाद कैबिनेट मंत्री नौबतपुर में औचक निरीक्षण की खातिर पहुंचे थे। सेल टैक्स और वन विभाग व नौबतपुर के चेकपोस्ट में छापेमारी के दौरान मिले संदिग्ध अभिलेखों का कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण को जांच की खातिर भेजने के संग उचित कार्यवाही का निर्देश दिया गया है। खास यह कि इसी समय सेल टेक्स विभाग द्वारा मौके पर अवैध चेकिंग कर रहे असिस्टेंट कमिश्नर अशोक कुमार सिंह मौके से सरकारी गाड़ी छोड़कर फरार हो गये। मंत्री ने खुद इस गाड़ी को सैयदराजा थाने भेज दिया है ।

जाम का सबब बनने वाले विभागों पर कार्रवाई के आदेश

गौरतलब है कि कैबिनेट मंत्री की शुक्रवार की रात जाम में फंसने के कारण ट्रेन छूट गई थी। इसके दर्द को समझते हुए कैबिनेट मंत्री ने अपने दल बल के साथ कमिश्नर और आईजी दीपक रतन को भी लेकर नौबतपुर बार्डर पहुंचे। यहां पर बने विभिन्न विभागों चेकपोस्टों का किया औचक निरीक्षण किया तो संदेहपूर्ण कागजात का बंडल मिला। मंत्री ने डीएम हेमंत कुमार और एसपी संतोष सिंह को इस जनपद के बॉर्डर में जाम लगने वाले कारणों को चिन्हित करने का निर्देश देते हुए कहा कि यदि आवश्यकता पड़े तो विभागों के ऊपर भी कार्यवाही की जाये। इससे पहले रात में जब मंत्री ने सेल टैक्स द्वारा की जा रही अवैध चेकिंग का जायजा लिया तो सेल्फ सेल टैक्स विभाग ने अपनी गाड़ी मौके पर छोड़कर फरार हो गए थे। इसके बाद औचक निरीक्षण का कार्यक्रम तय हुआ।

admin

No Comments

Leave a Comment