वाराणसी। पिछले दिनों काशी के दौरे पर आये सीएम योगी के निशाने पर परिवहन विभाग था। उनकी फटकार के बाद भी सुधार न होते देख डीएम योगेश्वर राम मिश्र ने परिवहन विभाग को खरी-खरी सुनायी है। बुधवार को रायफल क्लब सभागार में राजस्व कार्यो के प्रगति की समीक्षा के दौरान डीएम ने परिवहन विभाग के अधिकारियों को ट्रकों के ओवरलोडिग एवं अवैध वसूली की शिकायत पर एक्शन मोड में आने पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने आरटीओ दफ्तर को दलालों से मुक्त कराये जाने का निर्देश दिया। एण्टी भू-माफिया में पोर्टल पर फीडिग कार्य सन्तोषजनक न होने पर उन्होने इसी माह पूरा कराये जाने का निर्देश दिया।

पांच साल से लंबित राजस्व वादों का करें निस्तारण

डीएम ने राजस्व वादों के निस्तारण में सन्तोषजनक प्रगति न होने पर तहसीलदार न्यायिक पिण्डरा पर नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रगति लाये जानें का निर्देश दिया। उन्होने पांच वर्ष से अधिक अवधि से लम्बित राजस्व वादों को निस्तारण प्राथमिकता पर किये जाने हेतु मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया। उन्होने राजस्व वादों के निस्तारण में अपेंक्षित प्रगति न होने पर मजिस्ट्रेटो को अपने कार्यशैली में सुधार लाये जाने पर जोर दिया। सहायक निबन्धक स्टाम्प को स्टाम्प वसूली में लक्ष्य के सापेंक्ष वसूली न होने पर कार्यशैली बदलने तथा लक्ष्य के सापेंक्ष प्रगति लाये। आडिट आपत्ति के 375 प्रकरण लम्बित होने पर नाराजगी जताते हुए 10 दिनों कें अन्दर निस्तारण किये जाने का निर्देश दिया। आम आदमी बीमा योजना की प्रगति सन्तोषजनक न होने पर भी उन्होने नाराजगी जतायी तथा इसमें सुधार लाये जाने का निर्देश दिया। मत्स्य पालको के लिये तालाबों का पट्टा आवंटन प्रत्येक दशा में 31 जनवरी तक किये जाने का निर्देश दिया। बैठक में एडीएम प्रशासन, वित्त/राजस्व, मुख्य राजस्व अधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट सहित एडीएम एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment