वाराणसी। युवक और युवती स्वजातीय थे। दोनों ने साथ पढ़ाई की थी जिसके बाद प्रेम संबंध परवान चढ़ने लगे। युवती के एक भाई को यह मंजूर नहीं था। उसने बहन को विश्वास में लेकर प्रेमी को फोटो के संग बुलाने को कहा। भड़ाव गांव (जंसा) में बुधवार की भोर में मोहित कुमार राम (20) पहुंचा तो प्रेमिका के घरवालों ने पीटकर अधमरा कर दिया। हमलावरों ने अपनी तरफ से मरा समझ कर गांव के बाहर सिवान में फेंक दिया। वहां से गुजर रहे लोगों ने कराह सुन कर पुलिस को सूचना दी लेकिन इलाज के दौरान ट्रामा सेन्टर में मोहित की मौत हो गयी। मौत से गुस्साये परिजनों ने प्रेमिका के परिवारीजनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाने के लिये लोहता थाना क्षेत्र के कोरोता में वाराणसी-भदोही मार्ग पर दोपहर 11 बजे से जमा लगा दिया। घटना की जानकारी मिलते ही एसपीआरए अमित कुमार , एसडीएम अंजनी कुमार,सीओ सदर अंकिता सिंह मौके पर पहुंचे और हत्या का मुकदमा दर्ज करवाने का आश्वासन देकर जाम समाप्त करवाया। मृतक मोहित कुमार की मां ममता की तहरीर पर जंसा थाने में आठ लोगो के खिलाफ बलवा व हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया हैं। फिलहाल तीन को हिरासत मे ंलेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

हाईस्कूल व ग्रेजुएशन पर फंसा पेंच

बताया जाता है कि जंसा के भड़ाव गांव निवासी रामाधार राम की पुत्री साधना से कोरोता गांव (लोहता) मोहित कुमार राम का तीन वर्ष से प्रेम सम्बन्ध चल रहा था। हाईस्कूल की परीक्षा दोनों ने सथ दी लेकिन इसके बाद मोहित काम धंधे में जुट गया जबकि युवती ग्रेजुएशन में पहुंच गयी। यह बात लड़की के भाई को नागवार लगी। उसने बहन से उसके प्रेमी को फोन करवाया कि तुम अपनी फोटो लेकर मेरे घर आ जाओ। मेरे माता-पिता हम दोनों की शादी करवाने के लिये राजी हो गये हैं। मोहित अपने पिता को फोटो पहुचाने की बात कहकर अपने प्रेमिका के घर बुधवार की भोर में चला गया। यहां लड़की के परिवारीजनों ने मोहित की लाठी व राड से जमकर पिटाई करने के बाद उसे मृतक समझकर कर जंसा थाना क्षेत्र के तितखोरी गांव में एक सुनसान जगह पर फेंककर भाग निकले। ग्रामीणों ने कोरोता स्थित एक निजी अस्पताल पहुचाया जहा डॉक्टरों ने उसे ट्रामा सेंटर भेज दिया जहां मौत हो गयी।

admin

No Comments

Leave a Comment