आजमगढ़। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर इस्लाम को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की भनक मिलने पर पुलिस एक्शन में आ चुकी थी। आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले के खिलाफ आईटी समेत आईपीसी की धारा में मुकदमा कायम कर जेल दाखिल कर दिया था। बावजूद इसके सरायमीर इलाके में बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग पुलिस थाने पर विरोध प्रदशर््न के लिए पहुंचे लेकिन इसके बाद जो कुछ हुआ उससे पुलिस के होश उड़ गये। उग्र भीड़ ने जमकर पथराव करते हुए कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। फौरी कार्रवाई के तहत हिंसा में शामिल 15 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन इसका ताना-बाना बुनने वाला संगीन मामलों को आरोपित हिस्ट्रीशीटर फरार होने में सफल रहा। एसपी अजय साहनी के मुताबिक कानून के साथ खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं दी जायेगी और बलवे में शामिल लोगों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी।

एक दिन पहले ही हो चुकी थी गिरफ्तारी

पुलिस के मुताबिक अमित नामक युवक ने फेसबुक पर एक पोस्ट की थी जिसके बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया था। पठानी टोला के ओबैदुर रहमान की शिकायत पर पुलिस ने आईटी एक्ट की धारा 66 ए और आईपीसी की धारा 295 ए के तहत अमित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करते हुए शुक्रवार की रात ही गिरफ्तार कर लिया था। शनिवार को अमित जेल भेज दिया गया। अमित के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की मांग को लेकर भीड़ ने बवाल कर दिया। आसपास के थानों की फोर्स के संग पीएसी को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए बुलाया गया। एसपी खुद अधीनस्थों के संग मौके पर पहुंच गये।

बवाल के पीछे हिस्ट्रीशीटर!

एसपी ने बताया कि अमित को पहले ही जेल भेजा गया था और उसकी पोस्ट हो हटा दिया गया था। बावजूद इसके योजनाबद्ध तरीके से बवाल कराया गया। सूत्रों की माने तो थाने के हिस्ट्रीशीटर कलीम ने इसकी पटकथा लिखी थी। इससे पहले भी 2017 में खुदादारपुर क्षेत्र में सांप्रदायिक दंगा में भी उसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। दुष्कर्म समेत 22 संगीन मामलों के आरोपित कलीम की तलाश की जा रही है। एसपी ने स्वीकार किया कि हिंसा में शामिल 15 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है, हालांकि कलीम अभी फरार है। बवाल के मामले में रपट दर्ज करने के साथ एनएसए के तहत उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्र में पर्याप्त पुलिस बल और पीएसी तैनात किए गए हैं। तनाव के बावजूद स्थिति नियंत्रण में है।

admin

No Comments

Leave a Comment