वाराणसी। एक जमाना था कि हीरा-बुल्लू का बिहरा होने की सूचना पर हजारों की भीड़ जुट जाती थी। लोग लंबी दूरी पैदल चल कर उन्हे सुनने के लिए आते थे। वक्त के साथ शरीर ने साथ देना छोड़ दिया तो हीरालाल यादव नेपथ्य में चले गये। वह किस हाल में जानने की भी किसी ने जहमत नहीं ली। सम्पर्क फार समर्थन अभियान के तहत विदेश राज्य मंत्री और पूर्व थल सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह शनिवार को सपत्नीक वाराणसी पहुंचे तो उन्होंने प्रसिद्ध लोकगायक हीरालाल यादव से मुलाकात की। हीरा लाल एवं उनके परिवार के लोगों का कुशल क्षेम किया। हीरा लाल यादव अत्यंत भावुक हो उठे। उन्होंने अपने लोकगीत भी गुनगुनाए।

1269

रात तक चलता रहा सम्पर्क का सिलसिला

इके बाद जनरल वीके सिंह और उनकी पत्नी भारती सिंह ने दोपहर में डा. दयानिधि मिश्र के वरुणापुल स्थित अभिलाषा कालोनी में प्रबुँदधजनों से मुलाकात की और साफ नीयत सही विकास की पुस्तक भेंट की। प्रबुदधजनों का आह्वान किया कि वह प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में चल रहे विकास में साथ दें। जनरल वीके सिंह ने कहा कि हमने काफी कुछ बदलाव लाकर देश की तरक़्की का रास्ता अख्तियार किया है। आश्वस्त किया देश के एक एक व्यक्ति की भावनाओं का आदर कर यह सरकार आगे बढ़ेगी। शाम को काशी विद्वत परिषद के अध्यक्ष डा. रामयत्न मिश्र और देर शाम प्रसिद्ध उद्यमी रमा रमन से मुलाकात का सिलसिला जारी रहा। इस दौरान काशी विद्यापीठ के कुलपति डा. टीएन सिंह, डा. रामसुधार सिंह , डा. जितेन्द्रनाथ मिश्र, डा. राघवेन्द्र सिंह, डा.श्रद्धांनंद, हरिराम द्विवेदी,प्रो सुरेन्द्र प्रताप, प्यारे सिंह, डा. शंभु उपाध्याय, डा. मंजुला चतुवेर्दी, राजेश राय समेत भाजपा नेता धर्मेन्द्र सिंह, अरुण सिंह, राजेन्द्र यादव, महेन्द्र यादव, सत्यम सिंह, विवेक सोनू, सुशील गुप्ताआदि शामिल थे। डा. ऋतंधर मिश्र, डा. उदयन मिश्र ने जनरल वीके सिंह उनकी धर्मपत्नी श्रीमती भारती का स्वागत किया।

admin

No Comments

Leave a Comment