आधी रात का पूरा सच जानने एडीजी पहुंचे सिगरा थाने, थानेदार को दिया एक पखवारे का अल्टीमेटम

वाराणसी। पुलिस सेवा में लगभग तीन दशक बिताने वाले एडीजी ब्रज भूषण सिर्फ आफिस में नहीं बैठते बल्कि खुद फील्ड में उतर कर खांमियों को दूर करने का प्रयास करते हैं। इससे पहले वह दो बार काशी में तैनात रह चुके हैं लेकिन उनके तेवर न तो नये थानेदारों को पता थे न ही अधीनस्थ अफसरों को। बुधवार की आधी रात को वह अचानक सिगरा थाने पहुंचे तो सभी के होश फाख्ता हो गये। एडीजी ने सिर्फ कागज ही नहीं चेक किये बल्कि बैरकों से लेकर हवालात तक का मुआयना किया। उनके सुलगते सवालों का कोई उत्तर थाना प्रभारी के पास नहीं था। साफ शब्दों में चेतावनी दी गयी कि एक पखवारे में मिली खामियों को दूर नहीं कर सकते तो अपना बोरिया-बिस्तर बांध ले।

समीक्षा बैठक के बाद बना कार्यक्रम

गौरतलब है कि बुधवार की शाम एडीजी ने परिचयात्मक बैठक में अधीनस्थों को स्पष्ट कर दिया था कि क्या करें और क्या नहीं। एडीजी ने महिलाओं के विरूद्ध घटित होने वाले अपराधों में त्वरित कार्यवाही की जाये तथा पूर्व से गठित एण्टी रोमियो स्क्वॉड को और अधिक सक्रिय बनाने पर जोर दिया। शराब व बीयर की दुकानों के बाहर सार्वजनिक स्थानों पर शराब पी कर गुण्डई करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही के निर्देश दिये। थाना प्रभारी एवं अन्य अधिकारीगण अपने-अपने सरकारी मोबाइल फोन पर आने वाले काल को प्रत्येक दशा में अटेण्ड किया जाये, यदि कतिपय कारणों से थाना प्रभारी व्यस्त हो तो थाने के अन्य अधिकारी या कर्मचारी द्वारा मोबाइल फोन अटेण्ड किया जाये। चेताया था कि पुलिस के द्वारा अवैध वसूली तथा आमजनता से जुड़े उनके कार्यों के निस्तारण में किये जाने वाले उत्पीड़न की शिकायत प्राप्त होने पर कठोर दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

बैरक के पंखे बंद, विवेचनाओं का अंबार

एडीजी ने सिगरा थाने की बैरक देखी तो उसके दो पंखे चल ही नहीं रहे थे। भीषण गर्मी में भी पंखे न चलने पर उन्होंने जमकर फटकार लगायी। लंबित विवेचनाओं का अंबार देख वह हत्थे से उखड़ गये और एक पखवारे के भीतर इसका निस्तारण कराने को कहा। गंदगी और सफाई की व्यवस्था दुरुस्त न होने पर भी नाराजगी जतायी। स्पष्ट कर दिया कि थाने पर नियुक्त पुलिस कर्मियों को उनके लिये आवंटित बीट की सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिये और बीट में होने वाली अपराधिक/असामाजिक/कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाली सूचनाओं के सम्बन्ध में बीट सूचना अंकित कर कार्यवाही की जानी चाहिये।

Related posts