डिप्टी सीएम केशव की नसीहत: कश्मीर छोड़ अपना हाल देखे कांग्रेस नहीं तो अगले चुनाव में शून्य तय

आजमगढ़। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 हटाये जाने को लेकर एक तरफ जहां केन्द्र और प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा आक्रामक है तो दूसरी तरफ विपक्षी दलों के नेताओं पर तंंज कसे जा रहे हैं। रविवार को भाजपा के सदस्यता अभियान तथा विकास कार्यो की समीक्षा में भाग लेने पहुंचे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने धारा 370 हटाने पर पीएम मोदी की सराहना करते हुए विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उपमुख्यमंत्री ने कांग्रेस पार्टी के बहाने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस को कश्मीर के हालत की नहीं बल्कि अपनी पार्टी के हाल की चिंता करनी चाहिए। गृह मंत्री अमित शाह के बयान को दोहराते हुए कहा कि सिर्फ पीओके नही अक्साई चिन भी हमारा है। हम सिर्फ देश ही नहीं बल्कि दुनिया में मजबूत हैं जिसका नतीजा है कि पाकिस्तान पूरी दुनिया के चक्कर लगा रहा लेकिन कोई उसे भाव देने को तैयार नहीं है।

संसद की वोटिंग बताती है कि देश क्या चाहता हैै

शाह कुंदनपुर गांव में पार्टी द्धारा आयोजित सदस्यता अभियान में पहुंचे उप मुख्यमंत्री का कार्यकतार्ओं ने जमकर स्वागत किया। इस दौरान डिप्टी सीएम ने बड़ी संख्या में लोगों को पार्टी की सदस्यता दिलाई। इसके के बाद पौधरोपण कर सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ विकास कार्यो की समीक्षा की। नेहरूहाल में आयोजित गोष्ठी में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि धारा 370 हटाये जाने से पूरे देशवासी खुश है। उन्होने कहा संसद में धारा 370 पर हुई वोटिंग में 370 सांसदों ने पक्ष में वोटिंग किया। जबकि इसके विपक्ष में महज 70 वोट पड़े। इससे स्पष्ट होता है कि आने वाले समय में कांग्रेस के 70 में से 7 गायब हो जायेगा और केवल शून्य पर रह जायेगी।

दशकों पुरानी ‘बीमारी’ का हुआ इलाज

डिप्टी सीएम का कहना था कि अनुच्छेद 370 और 35ए एक बीमारी की तरह थी। इस समस्या का हल नेहरू-गांधी के पास था लेकिन वह इसे जस का तस छोड़कर चले गए। कुछ ऐसी ही समस्या हैदराबाद और जूनागढ़ की भी थी लेकिन लौहपुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल सरीखा था जो इसे पूरी तरह से हल कराये। कांग्रेस की सरकार ने देश के सामने जिस बीमारी को खड़ा किया था उसका सात दशक के बाद वास्तविक समाधान हो गया।

Related posts