नकल करने से लेकर रिश्वत के ‘टिप्स’ देने वाला ‘शिक्षाविद्’ अंदर हवालात, वायरल वीडियो के आधार पर कार्रवाई

मऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा की शुचिता कायम रखने के लिए शासन ने सीसी कैमरे लगाने से लेकर दूसरे पुख्ता प्रबंध किये हैं। बावजूद इसके पहले दिन मंगलवार को ही एक वीडियो खासा वायरल हुआ। इस वीडियो में एक स्कूल के प्रबंधन द्वारा छात्रों को योगी सरकार के सख्ती को मात दे कर किस प्रकार से नकल किया जाये और पास होने के लिए क्या तरकीब अपनाया जाये इस बारे में विस्तार से बतते दिखे। इसके बाद इस वीडियो को डीएम ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने संज्ञान में लिया। साथ ही वायरल वीडियों के आधार पर केस दर्ज करने का आदेश दिया। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी शिक्षा माफिया को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

फेयरवेल पार्टी में बता रहे थे तरीके

वायरल वीडियो की आरम्भिक जांच में स्पष्ट हुआ कि मधुबन नगर पंचायत वार्ड नम्बर 12 के हरिवंश मेमोरियल इन्टर कालेज का है। यहां के प्रबंधक प्रवीन्द्र मल्ल फेयरवेल पार्टी के दौरान यूपी बोर्ड की परीक्षा में सख्ती को देखते हुए छात्रों को नकल करने का टिप्स दे रहे ते। प्रबंधन ने बताया गया कि वह एक-दूसरे के माध्यम से नकल कर सकते है। पेपर अगर अच्छा नहीं गया तो उत्तर पुस्तिका में सौ-दो सौ रुपये रख सकते है। इससे कापी चेक करने वाला पैसा पाकर पास कर देगा। इसके अलावा कई प्रकार के टिप्पस दिये गये। खास यह कि वहां वैठे किसी छात्र ने ही इस वीडियो को बनाने के संग सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

मची हडकंप तो दिखाया दमखम

यूपी बोर्ड परीक्षा के पहले दिन ही यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से फैलने लगा। इससे शिक्षा विभाग सहित जिला प्रशासन में खलबली मच गयी। तब जा कर डीएम ने एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी के आदेश दिये। डीएम ने स्वीकार किया है कि वायरल वीडियो को संज्ञान में लेकर मधुबन थाने में एफआईआर दर्ज किया गया। साथ ही हरिवंश मेमोरियल इन्टर कालेज के प्रबंधक को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में आगे भी कार्रवाई की जायेगी।

Related posts