पत्नी पर किया एसिड अटैक, युवती की दशा गंभीर, आरोपित गिरफ्तार

जौनपुर। सात जन्म तक साथ निभाने की कसमें चार साल तक भी नहीं चली। पत्नी से नाराजगी कुछ ऐसी हुई कि उसे तेजाब से नहला दिया। यह सनसनीखेज वारदात शनिवार को केराकत तहसील कोर्ट परिसर में में हुई जिसके बाद वहां अफरा-तफरी मच गयी। आरोपित ने मौका देख कर फरार होने का प्रयास किया लेकिन लोगों ने दबोच कर पिटाई के बाद उसे पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां 70 फीसदी से अधिक झुलसने के चलते उसकी हालत चिन्ताजनक बनी है। ऐसिड अटैक के मामले अमूमन प्रेम प्रपंच के मामलों में होते हैं लेकिन यहां तो जीवनभर साथ निभाने का वादा करने वाले पति ने अपने ही पत्नी के उपर कोर्ट परिसर में ही वारदात को अंजाम दे दिया।

तलाक का मामला चल रहा था कोर्ट में

पुलिस क्षेत्राधिकारी केराकत के मुताबिक खुशबु नामक युवती का विवाह चार वर्ष पूर्व केराकत थाना क्षेत्र के अमिलियां गांव निवासी जवाहर लाल विश्वकर्मा के पुत्र मोहन विश्वकर्मा के साथ हुआ था। किन्ही कारणों से रिश्तों में खटास आती गयी और युवती मायके चली गयी। पंचायत से मामला नहीं बना तो नौबत तलाक तक आ गयी। दंपत्ति शनिवार को केराकत कोर्ट में तलाक के मामले की सुनवाई करे लिए मौजूद थे। इसी बीच योजनाबद्ध तरीके से पति मोहन विश्वकर्मा ने अपने साथ लाये थरमस में भरे एसिड को अपनी ही पत्नी पर आक्रोशित होकर फेंक दिया जिससे वह बुरी तरह से झुलस गयी। इस अप्रत्याशित घटनाक्रम से पूरे कोर्ट परिसर में अफरा तफरी का माहौल व्याप्त हो गया। फर्श पर छटपटाती खुशबू को लोग समभाने में लगे थे और मोहन थर्मस फेंक कर भागने लगा। शोर-गुल सुनकर जुटे लोगों ने दौड़ा कर उसे धर-दबोचा। आनन फानन में बुरी तरह से झुलसी विवाहिता को नजदीकी स्वास्थ्य केंन्द्र पर ले जाया गया, जहाँ नाजुक स्थिति को देख चिकित्सालय में मौजूद चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे वाराणसी के मंडलीय अस्पताल की बर्न यूनिट के लिए रेफर कर दिया। आरोपि पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। एसिड अटैक से 70 प्रतिशत जली विवाहिता जीवन और मौत से संघर्ष कर रही है।

Related posts