बलिया। जिला सत्र न्यायालय में बुधवार की दोपहर उस समय खलबली मच गयी जब दहेज हत्या के मामले में पेशी पर आया विचाराधीन कैदी राकेश कुमार तिवारी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। पहले तो सिपाहियों ने अपने स्तर पर तलाश की कोशिश की लेकिन पता न चलने पर कस्टडी से फरार होने की सूचना दी। राकेश कुमार तिवारी है दलई तिवारीपुर (रसड़ा) गांव की निवासी है। पुलिस कस्टडी से कैदी के फरार होने की सूचना मिलते ही पुलिस महकमा सक्रिय हो गया। मौके पर एसपी अनिल कुमार सहित कई अधिकारी पहुंचे और घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली। चार घंटे बाद पुलिस ने चेकिंग अभियान में राकेश को दोबारा दबोच कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। इस मामले में कोतवाली थाने में अलग से मुकदमा कायम कराया गया है।

कप्तान का तेवर देख चार घंटे में गिरफ्तारी

जिला सत्र न्यायालय से पेशी के दौरान पुलिस कस्टडी से कैदी होने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एसपी ने परिसर में लगे सीसी फुटेज को चेक कराया। इसे देखने के बाद उनका मानना था कि यह निश्चित ही लापरवाही है। जांच के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को फरार कैदी आराम से जाता हुआ दिख रहा है। फुटेज में जैकेट के साथ नीले रंग का पैंट और नीले रंग का जूता पहने राकेश को शौचालय के बहाने जाते हुए देखा गया है। कप्तान के तेवर भांप कर महकमा सक्रिय हो गया। जनपद की सीमा सील कर चेकिंग के आदेश दिये गये जिसका परिणाम गिरफ्तारी के रूप में सामने आया।

admin

No Comments

Leave a Comment