चंदौली। सीएम योगी भले दूसरे अधिकारियों को धमकाने की खातिर भ्रष्टाचार के मामले में मीरजापुर जेल में निरुद्ध निलंबित एआरटीओ आरएस यादव का जिक्र करते हो लेकिन जिले में एक बार फिर से ‘टोकन’ का खेल शुरू हो चुका है। सैकड़ों की संख्या में ओवरलोडेड ट्रक रोजाना पार कराये जा रहे हैं। चर्चाओं की माने तो परिवहन विभाग के एक अधिकारी खुद को परिवहन मंत्री का रिशतेदार बता कर आंख मूंदे हैं तो जिले से एक विधायक ने पार कराने वाले गैंग को सरपरस्ती दे रखी है। खुद को विधायक का करीबी बताने वालों ने लाल बालू के धंधे पर वर्चस्व बनाने की कोशिश भी की थी। इसका नमूना डीएम हेमंत कुमार और एसपी संतोष सिंह की छापेमारी में तो मिला था साथ रविवार को पूर्वांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रमोद सिंह के साथ चेकिंग अभियान में देखने को मिला।

94

एक दर्जन ट्रकें सौंपी गयी पुलिस को

यूपी-बिहार बार्डर पर बालू माफियाओं ने अपनी दखल बनाने के बाद धंधे धडल्ले से शुरू कर दिया था। ओवरलोड वाहनों को पार कराने की शिकायतों पर एसोसिएशन ने पुलिस के साथ एक दर्जन से ज्यादा बालू लदी ट्रकों को रोका। ओवरलोडेड ट्रकें पुलिस की सुपुर्दगी में आ गयी लेकिन परिवहन विभाग पर गम्भीर आरोप लगने लगे हैं। कहा जा रहा है कि टोकन सिस्टम से अवैध वसूली कर यूपी में ओवरलोड वाहन पार कराए जा रहे हैं। नौबतपुर चेक पोस्ट पर अंडरलोड वाहन के कागज ट्रकें पास हो रही। अवैध बालू के धंधे में वन विभाग और खनन विभाग पर भी गाड़ी पास कराने का आरोप है।

एसपी की चेतावनी होगा बुरा अंजाम

इस बाबत एसपी चंदौली का नजरिया स्पष्ट है। उनका कहना था कि एक दिन में सैकड़ों ट्रक बालू जब्ज हो गयी है जिसकी निलामी करा कर सरकारी कोष में जमा करा दिया जायेगा। किसी ने कदाचार किया और इसके प्रमाण मिले तो अंजाम बुरा होगा। यहां पर जो होता था उसे करने वालों का हश्र देख सबक लेना चाहिये।

admin

No Comments

Leave a Comment