मूक-बधिर को बनाया हवस का शिकार, थाने पहुंचा दुष्कर्म का मामला तो आरोपित फरार

बलिया। पिछले विधानसभा चुनावों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध भाजपा का एक प्रमुख मुद्दा था। लोगों ने इस पर भारी समर्थन दिया जिसका नतीजा रहा कि प्रचंड बहुमत वाली सरकार बनी। शासन-प्रशासन के तमाम निर्देशों के बावजूद इस पर अंकुश लगते नहीं दिख रहा है। ताजा मामला हलिया थाना क्षेत्र के एक गांव का है जहां रहने वाली नाबालिग 16 वर्षीया मूक-बधिर किशोरी के साथ दुष्कर्म किया गया। खास यह कि दिव्यांग के साथ दुराचार की तहरीर दे दी गयी थी लेकिन देर शाम तक रपट नहीं दर्ज हो सकी थी।

घात लगा कर इंतजार कर रहा था आरोपित

थाने दी गयी तहरीर के मुताबिक पीड़िता शु्क्रवार की शाम 7 बजे शौच के लिए गांव के बाहर सिवान में गई थी। सिवान के झाड़ी में पहले से घात लगा कर आरोपित बैठा था। पीड़िता को अकेली देख आरोपित ने उसे हवस का शिकार बनाया। घर वापस आने पर किशोरी ने आपबीती इशारों में परिवार वालों से बतायी। शनिवार को भाई ने थाने मे लिखित तहरीर देकर कहा कि बहन हमारी गूंगी है झाडी मे घात लगाए बैठे युवक ने उसके साथ दुराचार किया। घर आने पर इशारे में सारी बात बतायी तो हम लोगों ने मौके पर उसे गांव के प्रधान रविशंकर सहित खोजबीन की लेकिन दुराचारी भाग निकला था। जांच कर कार्रवाई का आश्वासन देते हुए पुलिस ने घरवालों को लौटा दिया है।

Related posts