वाराणसी। वर्षो से बेटी बचाने की अलख जगा रही संस्था आगमन एक बार फिर अपने अभियान को बढ़ाते हुए अपने मेगा अभियान के तहत 3700 किलोमीटर की साइकिल यात्रा रविवार से आरम्भ की। ‘पूर्व से पश्चिम तक बेटी बचाओ साइकिल यात्रा’ की प्रतीकात्मक शुरूआत भारत माता मंदिर से भारत माता को प्रणाम और पुष्प अर्पण के साथ हुई। देश के पूर्वी से पश्चिमी छोर तक जाने वाली 18 दिवसीय यह साहसिक साइकिल सन्देश यात्रा अरुणाचल के तेजू से प्रारम्भ होकर कोटेश्वर गुजरात पर समाप्त होगी। अभियान में वर्ल्ड पीस सोसायटी और एटलस साइकिल का भी सहयोग रहा। भ्रूण हत्या बंद करने,बेटियों को जीने के अधिकार देने और विश्व शांति संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के संकल्प के साथ वाराणसी का युवा उत्कर्ष वर्मा अपने लम्बी साइकिल सन्देश यात्रा की शुरूआत भारत माता को नमन कर प्रारम्भ किया।

आठ राज्यों का होगा सफर

संस्था के सदस्यों संग उत्कर्ष भारी भीड़ के साथ बेटी बचाओं और कन्या भ्रूण ह्त्या बंद करो के नारे के बीच कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचा जहां उपस्थित समुदाय के शुभकामना लेने और भ्रूण हत्या न करने के शपथ दिलाने के बाद मुगलसराय के लिए रवाना हुआ। मुगलसराय से रेल मार्ग द्वारा डिब्रूगढ़ तक और फिर वहां से सड़क मार्ग से अरुणांचल के तेजू लोहिन पहुंचकर 1 मार्च से अपनी यात्रा की विधिवत शुरूआत करेंगे। यह 3700 किलोमीटर की साहसिक साइकिल यात्रा आठ राज्यों अरुणाचल,असम,प.बंगाल,बिहार,यूपी,एमपी,राजस्थानऔर गुजरात के 1023 गांवों और शहरों की जनता तक बेटी बचाने का सन्देश पहुँचायेगी। यात्रा 18 मार्च को समाप्त होगी। आगमन के महासचिव डॉ संतोष ओझा के अगुआई में आगमन संस्था के वी पी सिंह,रजनीश सेठ अभिषेक जायसवाल,शिव कुमार,आलोक पांडेय,कपिल यादव,दिलीप श्रीवास्तव,सन्नी कुमार,गोपाल शर्मा,हरीश शर्मा,पंकज मौर्य,प्रवीण गुप्ता,सुमित चौहान और विकाश श्रीवास्तव वर्ल्ड पीस सोसायटी के मधूसूदन रक्षित,मनोज केशरी,अजय सिंह और दीपक कुमार ने अपना सहयोग दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment