मीरजापुर। अवैध खनन पर रोक लगने व अवैध खनन में संलिप्त अपराधियों की पर शिकंजाकसने के लिए डीएम व एसपी आशीष तिवारी की अध्यक्षता में खनन संचालको से मीटिंग कर कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। इनके अनुपालन की खातिर सभी संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए गए। नतीजा, अक्टूबर माह में 199 वाहन अवैध परिवहन ओवरलोडिंग में पकड़े गए हैं। इसमें 121 वाहन अन्य जनपदों से संबंधित है जबकि 78 मीरजापुर से संबंधित हैं। वाहन स्वामी और चालकों द्वारा शमन हेतु प्रार्थना पत्र दिए जाने पर 112 वाहनों को शमन कर जुर्माने के रूप में 33 लाख 4838 रुपए राजस्व के मद में जमा कराया गया। अवैध खनन को लेकर कड़ी कार्रवाई से वाहन मालिकों में खलबली मची है।
खनन कराने वालों को भेजी गयी नोटिस
मीरजापुर में मुख्य रुप से उपखनिज इमारती पत्थर, सेंड स्टोन सरदार बालू गंगा नदी सरदार मिट्टी तथा ईंट मिट्टी बहुतायत में पाए जाते हैं जिससे मुख्य रूप से राजस्व प्राप्त होता है। शेष खनन पट्टे जनपद में इमारती पत्थर सेंड स्टोन के कुल 268 खनन पट्टे स्वीकृत हैं। इनमें से कुल 189 खनन पट्टे संचालित हैं तथा शेष खनन पट्टे संचलन की कार्यवाही पूर्ण कराई जा रही है। जिन खनन पट्टाधारको एवं क्रशर संचालको द्वारा अवैध परिवहन एवं ओवरलोडिंग बार-बार करायी जा रही है उन्हें चिन्हित कर नोटिस बैठक में उपलब्ध करा दी जाएगी। उसके संबंध में उत्तर/ स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं पाए जाने पर प्रावधानित कार्रवाई की जाएगी तथा अवैध खनन परिवहन की सूचना डीएम कंट्रोल रूम पर दी जाएगी।

admin

No Comments

Leave a Comment