झांसी से आये क्राइम ब्रांच के ‘दरोगाजी’ फंसे दुष्कर्म के मामले में, एसएसपी के आदेश पर दर्ज हुई रपट तो निलंबन संग यह ‘आदेश’

वाराणसी। शातिर और खूंखार अपराधियों पर नकेल कसने के लिए जिले की क्राइम ब्रांच इन दिनों एक बार फिर से चर्चा में आ गयी है। पिछले कुछ समय से किसी बड़े मामले के ‘खुलासे’ के बदले क्राइम ब्रांच दूसरे ‘कारणों’ से सुर्खियों में है। बहरहाल ताजा मामला झांसी से तबादले के बाद यहां तैनात इंस्पेक्टर अमित कुमार का है। दरअसल बुधवार को कप्तान के समक्ष मथुरा से आकर पेश होने वाली युवती ने इंस्पेक्टर पर संगीन आरोप लगाये थे। पीड़िता का कहना था कि 2012-13 में अपनी मथुरा में तैनाती…

Read More

पाने को ‘सहानभूति’ खुद पर गोली चलायी लेकिन पुलिस जांच में सामने आयी ‘सच्चाई’, लिखी गयी रपट तो जेल जाने की बारी आयी

जौनपुर। पुलिस महकमे में सोमवार की दोपहर उस समय खलबली मच गयी थी जब टीडी कालेज में नकाबपोश बाइक सवार बदमाशों की फायरिंग में एक छात्र के जख्मी होने की सूचना प्रसारित हुई। मौके पर पहुंची पुलिस को सूरज यादव उर्फ गोलू निवासी नेवादा लाइन बाजार ने अपनी तरफ से घटना की जानकारी दी। गोलू का दावा था कि दोपहर में जब वह टीडी कालेज के शौचालय में पेसाब करने गया तो वहां पर 6-7 लोग पहले मौजूद थे। इन्होंने पूछा कि तुम्ही गोलू अध्यक्ष हो तो हां कहने पर…

Read More

धार्मिक दृष्टि से माघ मास का काफी है महत्व लेकिन कई कार्य है वर्जित, मूली है मदिरा समान लेकिन तिल का सेवन जरूरी

वाराणसी। भारतीय संवत्सर का 11 वां चन्द्रमास और दसवां सौरमास ‘माघ’ कहलाता है। इस महीने में मघा नक्षत्र युक्त पूर्णिमा होने से इसका नाम माघ पड़ा। यह इस वर्ष शनिवार 11 जनवरी से प्रारम्भ होकर 9 फरवरी तक रहेगा। धार्मिक दृष्टि से इस मास का बहुत अधिक महत्व है। इस मास में शीतल जल के भीतर डुबकी लगाने वाले मनुष्य पापमुक्त हो स्वर्गलोक में जाते हैं। पद्मपुराण के उत्तरखण्ड में माघमास के माहात्म्य का वर्णन करते हुए कहा गया है कि व्रत, दान, और तपस्या से भी भगवान श्रीहरि को…

Read More

बलिया खाद्यान्न घोटाला: बदला नाम के साथ ठिकाना लेकिन ईओडब्ल्यू ने ऐसे पहचाना, डेढ़ दशक बाद दो और आरोपित गिरफ्तार

वाराणसी। लगभग डेढ़ दशक पहले लाखों का गबन करने वाले लोकसेवक रिटायर्ड हो चुके थे। अपने ्िखलाफ दर्ज मुकदमे की जानकारी थी ही जिससे वह नाम के संग ठिकाना बदल कर रह रहे थे। मामले की जांच आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन (ईओडब्ल्यू) को सौंपी गयी थी। गबन करने के आरोपित लोकसेवकों की तलाश में पुलिस अधीक्षक ईओडब्ल्यू सतेन्द्र कुमार के निर्देशन में गठित टीम के इंस्पेक्टर सुनील कुमार वर्मा के नेतृत्व में मिर्जामुराद क्षेत्र और कैंट क्षेत्र में ताबड़तोड़ गुरुवार अलसुबह दो ठिकानों पर दबिश दी। नतीजा, तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक…

Read More