सदर तहसील में हत्या को लेकर इंस्पेक्टर शिवपुर पर गिरी गॉज, कुख्यात के ‘करीबी ’पुलिस वालों पर टिकी निगाह

वाराणसी। सदर तहसील में सोमवार को दिनदहाड़े प्रमुख ट्रांसपोर्टर और सोनभद्र में लेबर सप्लाई करने वाले नितीश सिंह बबलू की हत्या के मामले की गूंज लखनऊ तक पहुंची है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने मंगलवार को इंस्पेक्टर शिवपुर इन्द्रभूषण यादव को निलंबित कर दिया है। आरोप है सोमवार को ड्युटी के दौरान जरायम जगत के अपराधियों व माफियाओं पर अंकुश लगाये जाने हेतु समुचित निर्देश व पुलिस बल उपलब्ध कराये जाने के फलस्वरूप भी पर्याप्त प्रयास न करने के कारण हत्या की घटना घटित होने, कर्तव्य के प्रति घोरला परवाही, अकर्मण्यता…

Read More

फंसा तकनीकी पेंच तो सुधाकर ‘साइकिल’ से उतर कर हुए ‘पैदल’, जिसने दिलाया ध्यान उसी पर ‘आरोप’ तमाम

मऊ। जैसी की पहले से आशंका जतायी जा रही थी घोसी विधानसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशी सुधाकर सिंह का नामांकन निरस्त हो गया। दरअसल सुधाकर ने पार्टी के सिंबल के लिए जो फार्म बी दाखिल किया था उस पर राष्ट्रीय अध्यक्ष के हस्ताक्षर ही नहीं थे। सुधाकर तो नामांकन कर लौट चुके थे लेकिन रिटर्निग अफसर (निर्वाचन अधिकारी) विजय मिश्र ने उन्हें फोन कर बुलाने के संग इस तकनीकी खामी की तरफ ध्यान दिलाया। आनन-फानन में व्हाट्सएप से लेकर ई-मेल के जरिये दूसरा फार्म बी मंगाया गया लेकिन तकनीकी खामी…

Read More

कुख्यात के जमानत का विरोध करने की तैयारी पड़ी बबलू को भारी! विरोधियों ने एक साथलिया निशाने पर

वाराणसी। सदर तहसील के भीतर दुस्साहसिक ढंग से प्रमुख ट्रांसपोर्टर और सोनभद्र में लेबर सप्लाई करने वाले नितीश सिंह बबलू का मंगलवार भोर में अंतिम संस्कार किया गया। इसमें बड़ी संख्या में फोर्स के अलावा सैकड़ों शुभेच्छुक शामिल थे। पोस्टमार्टम हाउस से लेकर घाट तक बबलू के करीबियों का मानना था कि कुख्यात अपराधी अजय-विजय की जमानत का विरोध करना भारी पड़ गया। दरअसल लंबे समय से जेल की सलाखों के पीछे निरुद्ध कुख्यात ने अपनी जमानत करा ली थी। चर्चाओं की माने तो एक ‘माननीय’ ने पर्दे के पीछे…

Read More