गजब: लक्जरी कार से कर रहे थे सवा दो कुंतल गांजा पार, रोका पुलिस ने तो छोड़कर हो गये फरार

वाराणसी। हाइवे पर चेकिंग करने वाली पुलिस अमूमन कारों को नहीं रोकती। जिस पर यदि लक्जरी वाहन हो तो पुलिसवाले जाने देते हैं। बावजूद इसके तस्करों को पकड़े जाने की आशंका हमेशा बनी रहती है। सम्भवत: यही कारण था कि बुधवार की देर रात स्वतंंत्रता दिवस पर सतर्कता बरतने के क्रम में चेकिंग करे वाली पुलिस को देख लक्जरी कार छोड़कर संदिग्ध भाग निकले। शक होने पर पुलिस ने एसएक्स 4 कार की तलाशी तो उसमें 99 बंडलों में लगभग सवा दो कुतंल गांजा बरामद हुआ। मुंबई का नंबर, बिहार…

Read More

जश्न-ए-आजादी: कमिश्नर की सफाईमित्र से झंडारोहण करा कर प्रेरणादाईं पहल, दिया यह संदेश

वाराणसी। सफाई मित्र चंंदा बानों ने एक दिन पहले तक सपने में भी नहीं सोचा था कि ‘आला हाकिम’ की सवारी उसके जर्जर घर पर आयेगी। इतना ही नहीं ‘साहेब’ की तरह वह बैठकर जायेगी और झंडाारोहण उसके हाथों से होगा। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने इस साल 73 वें स्वतन्त्रता दिवस पर अनूठी एवं लोगो के लिए प्रेरणादाई पहल की थी। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कमिश्नरी कार्यालय भवन पर सफाई मित्र चंदा बानो को राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए चयनित किया गया था। इस मौके पर अन्य छह सफाई…

Read More

अब एफआईआर लिखवाने के लिए नहीं होगा चक्कर लगाना, प्रदेश के 22 जिलों में शामिल है काशी का ‘बिजली थाना’

वाराणसी। बिजली चोरी रोकने की खातिर विभागीय अधिकारी जाते तो थे लेकिन अधिकांश मामले दर्ज नहीं होते थे। आरोप भले कदाचार के लगे लेकिन इसके पीछे कुछ दूसरी ही वजह होती थी। दरअसल बिजली विभाग के अवर अभियंता से लेकर दूसरे कर्मचारी संबंधित थाने का चक्कर लगाते थे लेकिन एफआईआर नहीं दर्ज होती थी। मुकदमा दर्ज करने पर उसकी विवेचना करनी होती जिसके चलते पुलिसवाले भी कन्नी काटते थे। सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद एक थाने को प्रयोग के तौर पर बिजली विभाग की रिपोट दर्ज के लिए नोडल…

Read More