पूर्व एमएलसी विनीत सिंह के इस ‘ऐलान’ के बाद भाजपा ने ली राहत की सांस, तैयारियों में जुटे समर्थकों को लगा ‘झटका’

वाराणसी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्दनाथ पाण्डेय एक स्थान से दोबारा चुनाव अब कर नही जीते थे। चंदौली से भी इस बार माहौल प्रतिकूल नजर आ रहा था। दरअसल पार्टी से जुड़े एक बाहुबली ने गोटियां कुछ इस कदर सेट की थी कि आला कमान उन्हें मौका दे तो वह यहां की नुमांइदगी कर सके। इसका आभास प्रदेश अध्यक्ष को भी था लेकिन स्थानीय जातीय समीकरण खिलाफ जा रहे थे। बड़ी राहत गठबंधन के प्रत्याशी के रूप में पैराशूट प्रत्याशी कहे जाने वाले डा. संजय चौहान के आने से…

Read More

परिणाम जो भी आये लेकिन सोमवार को शालिनी के सामने दिखेंगे अजय राय

वाराणसी। लोकसभा चुनाव में पीएम नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर से काशी के सांसद बनने की खातिर अपना नामांकन कर दिया है। इससे पहले उन्होंने रोड शो कर दर्शा दिया कि उनका मुकाबला किसी और से नहीं बल्कि खुद से ही है। भाजपा समर्थक जीत सुनिश्चत मान रहे हैं और उनका कहना है कि जीत का अंतर क्या होगा सिर्फ यह जानना बाकी है। हलांकि पीएम ने उन्हें चेताया है कि विरोधी जीतेगा तो मोदी ही जैसे भ्रम फैलायेंगे लेकिन इसमें फंसना नहीं। अब उनके विरोध में सोमवार को…

Read More

बलिया के चुनावी समर से ‘अध्यक्षजी’ का परिवार ‘आउट’, सामने आ रहा ऐसा नाम जिससे सभी हैरान

लखनऊ। एक समय था जब आपातकाल के बाद कांग्रेस के विरोध में गठित जनता पार्टी की अगुवाई के लिए सर्वमान्य नेता के रूप में सिर्फ चंद्रशेखर का नाम सामने आये था। मुलायम सिंह यादव और लालू सरीखे नेताओं ने राजनीति का ककहरा उन्हीं से सीखा था। अपने समर्थकों से लेकर विरोधियों तक में सम्मान पाने वाले चंद्रशेखर देख के प्रधानमंत्री भी बने लेकिन उन्हें ‘अध्यक्षजी’ का संबोधन किया जाता था। अरसे तक बलिया का प्रतिनिधित्व करने वाले चंद्रशेखर के निधन के बाद उनकी राजनैतिक विरासत संंभालने नीरज शेखर भी सांसद…

Read More

सामाजिक पर्व का दिन ‘अक्षय तृतीया’ इस बार है कुछ खास, जानिये महत्व और पूजन विधि

वाराणसी। भारत वर्ष संस्कृति प्रधान देश है। हिन्दू संस्कृति में व्रत और त्योहारों का विशेष महत्व है। व्रत और त्योहार नयी प्रेरणा एवं स्फूर्ति का संवहन करते हैं। इससे मानवीय मूल्यों की वृद्धि बनी रहती है और संस्कृति का निरन्तर परिपोषण तथा संरक्षण होता रहता है। भारतीय मनीषियों ने व्रत-पर्वों का आयोजन कर व्यक्ति और समाज को पथभ्रष्ट होने से बचाया है। भारतीय कालगणना के अनुसार चार स्वयं सिद्ध अभिजित मुहूर्त हैं- चैत्र शुक्ल प्रतिपदा( गुडीपडवा), अक्षय तृतीया, दशहरा और दीपावली के पूर्व की प्रदोष तिथि। ये चार दिन सामाजिक…

Read More

बाहुबली अतीक की हो सकती है काशी के रण में ‘इंट्री’, चर्चाओं ने जोर पकड़ा तो मोदी विरोधियों की हालत ‘पतली’

वाराणसी। एक समय पार्षद रहते हुए सीधे इलाहाबाद पश्चिम से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीतने वाले अतीक अहमद विधानसभा से सर्वोच्च सदन लोकसभा की नुमांइंदगी कर चुके हैं। बावजूद इसके वह लंबे समय से अपने राजनैतिक वजूद को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। फूलपुर लोकसभ उपचुनाव से लेकर पिछले कई चुनाव हार चुके अतीक पिछले दिनों एक बार फिर से सुर्खियों में अये थे। कारण राजनैतिक नहीं था बल्कि उन्हें प्रदेश से हटा कर गुजरात की जेल में भेजने का आदेश सर्वोच्च अदालत की तरफ से आया…

Read More