टिकी निगाहें उसरी चट्टी पर, सिकरौरा कांड के फैसले को भी हाईकोर्ट में चुनौती की तैयारी

वाराणसी। माफिया से माननीय बने एमएलसी बृजेश सिंह लंबी कानूनी लड़ाई के बाद सिकरौरा कांड से बरी हो गये हैं लेकिन उनकी मुश्किलें अभी खत्म नहीं हुई हैं। इसके बाद गाजीपुर के उसरी चट्टी मामले का सामना करना है जिसमें प्रतिद्वंदी बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के उपर फायरिंग की गयी थी। मुख्तार इस मामले में गवाह भी है और बृजेश से अदावत जग जाहिर है। उधर सिकरौरा कांड की वादिनी हीरावती के विधिक पैैरोकार राकेश न्यायिक का कहना है कि उन्हें न्यायालय पर पूरा विश्वास है और वह सेशन कोर्ट…

Read More

एमएलसी बृजेश की तरफ से थे सलेम के ‘वकील’ तो बजरंगी की ‘नजीर’

वाराणसी। यूूं तो बहुुचर्चित सिकरौरा कांड में एमएलसी बृजेश सिंह का पक्ष रखने के लिए स्थानीय अधिवक्ताओं की फौज थी। फौजदारी के पुराने धुरंधरों से लेकर मेरिट के बचे खुचे अधिवक्ता बचाव पक्ष की तरफ थे। बावजूद इसके तुुरूप के इक्के के रूप में मुंबई हाईकोर्ट के जानेमाने अधिवक्ता सुदीप पासबोला को बुुलाया गया था। वादिनी हीरावती से जिरह समेत अहम मौकों पर वरिष्ठ अधिवक्ता पासबोला मुंबई से आते थे। सूत्रों की माने तो मुंबई के चर्चित जेजे हत्याकांड में भी पासबोला ने बृजेश और उनके लेफ्टीनेंट त्रिभुवन सिंह की…

Read More

नहीं सुधर रहा जेलों का हाल, गाजीपुर में जमकर बवाल के साथ आगजनी और तोड़फोड़-फायरिंग

गाजीपुर। प्रदेश की जेलों की दशा सुधारने के लिए सीएम योगी ने पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह के नेतृत्व में कमेटी बनायी है। बावजूद इसके वहां के हाल सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला जनपद कारागार का है जहां पर सीसी कैमरा लगता देख कैदियों ने जमकर बवाल किया। गुरुवार को जेलकर्मी और सीसी कैमरा लगाने वाले को बंधक बनाने के बाद कैदियों ने उपद्रव शुरू कर दिया। आगजनी -पथराव के बाद जेल प्रशासन ने हवाई फायरिंग कर स्थिति नियत्रित करने की कोशिश की लेकिन बवाल बढ़ता गया।…

Read More

कृष्णानंद के हत्यारों के खिलाफ आवाज उठाने अटलजी अंतिम बार आये थे काशी

वाराणसी। देश की सांस्कृतिक राजधानी कही जाने वाली काशी नगरी से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का खासा लगाव था। दर्जनों बार उनका काशी आगमन हुआ था और यहां के कई राजनेताओं से उनके करीबी संबंध जीवन भर बने रहे। गंगा, घाट और मंदिरों पर पीएम बनने के पहले तक वह सहज भाव से जाते और देर तक रहते। बावजूद इसके उनका अंतिम बार काशी आगमन किसी राजनैतिक सभा या कार्यक्रम को लेकर नहीं था। मोहम्मदाबाद के भाजपा विधायक कृष्णानंद राय समेत सात लोगों की हत्या के बाद राजनाथ सिंह…

Read More

अटल युग के अंत से शोक की लहर , गंगा आरती से दी गयी श्रद्धांजलि

वाराणसी। एम्स दिल्ली में गुरुवार की शाम 5 बजकर 5 मिनट पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने अपनी अंतिम सांसे ली। एम्स से जैसे ही ये खबर सामने आयी की अटल युग का अंत हुआ वैसे ही देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी। देश का हर वो व्यक्ति जो अटल बिहारी बाजपेयी के शख्शियत से रूबरू था उसकी आँखे नम हो गयी। अटल युग के अंत के बाद देश की राजधानी दिल्ली से लेकर सांस्कृतिक राजधानी व पीएम के संसदीय क्षेत्र काशी तक शोक देखने को मिला। काशी…

Read More

सिकरौरा कांड: एमएलसी बृजेश सिंह के बरी होने तक कायम रहा सस्पेंस, आदेश के बाद लगे जयकारे

वाराणसी। बलुआ (चंदौली) के सिकरौरा में 32 साल पहले सात लोगों की सामूहिक हत्या के बहुचर्चित मामले में गुरुवार की शाम तक सस्पेंस कायम रहा। एडीजे (सप्तम) राजीव कमल पाण्डेय की अदालत के बाहर अत्याधुनिक असलहों से लैस कमांडो की तैनाती से लेकर भारी संख्या में फोर्स की मौजूूदगी को लेकर एमएलसी बृजेश के समर्थक खासे दबाव में थे। फैसले की तिथि निर्धारित होने की जानकारी के चलते सुबह से बड़ी संख्या में समर्थक जुटने लगे थे। दोपहर बाद बृजेश को सेन्ट्रल जेल शिवपुर से कोर्ट लाया गया तो तनाव…

Read More