नक्सली इलाके में पोलिंग पार्टी को लेकर जा रही बस पलटी, 20 लोग जख्मी

सोनभद्र। इससे पहले हर बार चुनाव में नेता कोई भी लड़े लेकिन सर्वाधिक संवेदनशील इलाका नक्सली हिंसा से प्रभावित वाला ही माना जाता था। भारी संख्या में फोर्स होने के बावजूद पोलिंग पार्टियों पर हमले की घटनाएं पुलिस के रोजनामचे में दर्ज हैं। पिछले एक दशक से कोई बड़ी वारदात भले न हुई हो लेकिन सतर्कता अब भी पूरी बरती जाती है। बावजूद इसके शनिवार को मिली एक खबर से पुलिस-प्रशासन में हडकंप मच गयी। दरअसल जुगैल पोलिंग बूथ पर जा रहे मतदान कर्मियों व अधिकारियों की बस ब्रेक फेल होने के कारण बीजुल नदी के पास बेलगढ़ी गांव के निकट पलटी. जिसमें 20 लोग घायल हो गए।

खस्ताहाल बस पर थी पोलिंग पार्टी सवार

पहले यहां पर भेजे जाने वाहनों की दशा पर ध्यान दिया जाता था। माओवादी चुनावों का बहिष्कार कराते हैं जिसे ध्यान में रखते हुए वाहन अच्छे दिये जाते थे जिससे आने-जाने में परेशानी न हो। काफी समय से घटना नहीं हुई तो अधिकारियों ने ध्यान देना कम कर दिया। आरोप है कि बस की कंडीसन पहले से ही खराब जिसके चलते पहाड़ी पर ड्राइवर नियंत्रण खो बैठा। दुर्घटना के बाद सभी घायलों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन लाया गया हैं। सूचना मिलते ही जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक हॉस्पिटल पहुंच गए और घायलों का हाल चाल जाना। खास यह उक्त पोलिंग पार्टी लोकसभा के अंतिम चरण के मतदान के क्रम में ओबरा विधानसभा के एमपी बार्डर के पास स्थित जिस जुगैल पोलिंग बूथ भेजा गया था वह काफी खतरनाक माना जाता है।

Related posts