वाराणसी। शहर की सर्वाधिक घनी आबादी वाले इलाके दालमंडी में वाराणसी विकास प्राधिकरण को जांच में 13 तहखाने मिल चुके हैं। पुलिस ने तो चार निर्माण ढूंढे थे लेकिन इसकी जांच कर रही वीडीए ने संख्या तीन गुनी से अधिक कर ली है। लाख टके का सवाल यह है कि इसे कैसे जमींदोज किया जाये। अंडरग्राउंड निर्माण को ढहाने के फेर में आसपास के दूसरे भवन भी ढह सकते हैं। गलियों का इलाका होने के नाते भारी मशीनों की मदद ली नहीं जा सकती। इससे भी बड़ी समस्या वहां पर होने वाला विरोध प्रदर्शन है। वीडीए सचिव विशाल सिंह ने स्वीकार किया कि मामला कानून-व्यवस्था से जुड़ा होने के नाते जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया जायेगा। रणनीति तय होने के बाद ही कोई कार्रवाई की जायेगी।

कम ही विकल्प वीडीए के सामने

जमीन के नीचे का निर्माण होने के साथ वहां पर लोगों के तेवर देखते हुए वीडीए के लिए किसी निर्णय पर पहुंचना आसान नहीं है। निर्माण को ध्वस्त करने के बदले उसे बंद करने पर भी विचार किया जा चुका है लेकिन यह भी आसान नहीं है। संकरी गलियों में मकान सटे हैं जिससे किसी मशीन की मदद ली नहीं जा सकती। पार्किंग बनाने पर भी विचार किया गया लेकिन इसके सफल होने के आसार कम हैं। सर्वे के दौरान वीडीए को जो कुछ झेलना पड़ा उसके बाद इंस्पेक्टर तक निलंबित हो चुके हैं। विकल्प कम हैं जिन पर मंथन चल रहा है।

admin

No Comments

Leave a Comment