चंदौली। हॉरर किलिंग की वारदातें अमूमन पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में सुनने को ाती है लेकिन गौरी गांव (बबुरी) में शनिवार की अल सुबह कुछ ऐसा हुआ कि सभी के होश फाख्ता हो गये। यहां पर साथियों के संग बगीचे में बैठे दीपक नामक युवक को पड़ोस में रहने वाले विकास और संजय ने घेर लिया। पूछा कि बहन को गिफ्ट क्यों दिया था। दीपक सफाई देता इससे पहले विकास के पिता नारायण भी पहुंच गये। उन्होंने भी यही प्रश्न दोहराया। आरोप है कि इन लोगों ने बैट से दीपक पर वार करने शुरू कर दिये और तब तक प्रहार किये जब तक वह बेहोश होकर गिर नहीं गया। घटना को अंजाम देकर हमलावर धमकियां देते हुए वहां से बाग निकले।

मौत के बाद गांव तनाव, फोर्स तैनात

घटनाक्रम के आरम्भ होते दीपक के साथी भाग निकले और परिजनों को सूचना दी। उनके आने तक झाड़ियों में खून से लथपथ दीपक पड़ा था। फौरन चकिया अस्पताल पहुंचाया गया जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटनाक्रम के बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया और आरोपित मनबढ़ों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। सूचना मिलते ही आसपास की थानों की फोर्स के संग सीओ मौके पर पहुंचे। परिजनों की तहरीर पर बबुरी थाने में नामजद मुकदमा कायम करने के साथ आरोपितों की तलाश में छापेमारी की गयी लेकिन वह फरार हो चुके थे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इलाका नक्सली हिंसा से प्रभावित माना जाता है लेकिन हॉरर किलिंग की इस वारदात से दसरे तरह का तनाव व्याप्त है।

admin

No Comments

Leave a Comment