प्रियंका के दौरे से पहले सामने आई कांग्रेस की गुटबाजी, आपज़ में भिड़े कार्यकर्ता

वाराणसी। प्रियंका गांधी के स्वागत के लिए बुलाई गई बैठक में कांग्रेसी आपस में ही उलझ पड़े। महानगर अध्यक्ष सीताराम केसरी और एक कार्यकर्ता आपस में ही उलझ गए। काफी देर तक गर्मागर्मी चलती रही। बाद में किसी तरह मामला शांत कराया गया। वहीं इस दौरे से सम्बंधित एक बैठक महानगर कांग्रेस कमेटी ने महानगर कार्यालय मैदागिन पर आहूत की। इस बैठक में कांग्रेस महानगर, जिला कांग्रेस, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवा दल के कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद रहे।

इस वाराणसी दौरे पर प्रियंका गांधी के स्वागत पर विचार करना था पर इस मीटिंग में पार्टी की अंदरूनी कलह खुलकर सामने आ गई।पार्टी के शूलटंकेश्वर क्षेत्र के एक कार्यकर्ता मौके पर संचालन कर रहे महानगर अध्यक्ष सीताराम केसरी से उलझ गए। मिश्रा ने किसी तरह बात संभाली तब जाकर आगे की रणनीति पर फैसला हो पाया।इस सम्बन्ध में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष सीताराम केसरी ने बताया कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी 18,19 और 20 मार्च को इलाहाबाद से वाराणसी के दौरे पर हैं।

वाराणसी आगमन पर उनका जगह जगह कैसे स्वागत किया जाए इस बारे में मंत्रणा करने के लिए आज कांग्रेस के सभी विंग्स की बैठक यहाँ की गई है और आवश्यक फैसले लिए गए हैं।वहीं जब सीताराम केसरी से पूछा गया कि इस बैठक में काफी ज़्यादा तू-तू मै-मै हुई इसका कारण क्या था।

इसपर उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि इस बैठक में सभी से सुझाव मांगे गए थे प्रियंका गांधी के स्वागत से सम्बंधित। इसके लिए सुझाव देने वाले सभी कार्यकर्ताओं का नाम एक पेपर लिखा गया था। मै इस मीटिंग का संचालन कर रहा था और मै एक कार्यकर्ता का नाम नहीं पढ़ पाया और उनसे कह दिया आप कौन, जिसे वो गलत समझ गए और इसी पर बहस हुई।महानगर अध्यक्ष ने कहा कि इस समय हम सभी प्रियंका गांधी के स्वागत में जुट गए हैं और हम उनका वाराणसी आगमन पर भव्य स्वागत करेंगे।

Related posts